Friday, May 24, 2024
32.9 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeEDITORIAL News in Hindiमंत्री को सम्मानित करने का अधिकार हर किसी को है

मंत्री को सम्मानित करने का अधिकार हर किसी को है

Google News
Google News

- Advertisement -

मंत्री देश या किसी प्रदेश का हो, किसी भी राजनीतिक दल का हो, जब वह एक संवैधानिक पद नियुक्त हो जाता है, तू वह सबका हो जाता है। वह जाति, धर्म, भाषा, प्रांत और राजनीतिक दल के स्तर से ऊपर उठ जाता है। मंत्री पद पर बैठा व्यक्ति पूरे प्रदेश यह देश का मंत्री होता है। ऐसी स्थिति में उसे सबकी समस्याओं और परेशानियों को सुनकर उन्हें हल करना होता है। वर्तमान समय में जो राजनीतिक हालात हैं, उसको देखते हुए यह माना जा सकता है कि उसे मंत्री का झुकाव अपनी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के प्रति थोड़ा ज्यादा होता है, लेकिन वह किसी भी दूसरे राजनीतिक दल के कार्यकर्ता या सामान्य नागरिक की परेशानियों को हल करने से इनकार नहीं कर सकता है।

ठीक यही बात मंत्री महोदय का सम्मान करने, उन्हें किसी कार्यक्रम में आमंत्रित करने का समान हक हर किसी को हासिल है। पिछले रविवार को अपने गृह सिटी हिसार गए हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर कमल गुप्ता की एक वीडियो वायरल हो रही है। इस वायरल वीडियो मैं डॉक्टर कमल गुप्ता हिसार के प्रसिद्ध समाजसेवी और पूर्व हॉकी खिलाड़ी योगराज शर्मा से यह कहते हुए सुनाई दे रहे हैं कि आप लोगों का दिमाग खराब है, तुम एंटी हो। दरअसल वीडियो में स्वास्थ्य मंत्री डॉ कमल गुप्ता कार में बैठते हुए दिखाई दे रहे हैं और समाजसेवी योगराज शर्मा उन्हें गुलदस्ता भेंट करने की कोशिश कर रहे हैं। इसके बाद मंत्री जी अपनी गाड़ी का शीशा उतार कर कहते हैं, जो करना है वह आप कर लें। पूर्व हॉकी खिलाड़ी योगराज शर्मा समय-समय पर जन समस्याओं को उठाते रहे हैं।

यह भी पढ़ें : अहंकार में चूर नेतन्याहू का साथ छोड़ता अमेरिका

यही वजह है कि हिसार और उसके आसपास के जिलों में योगराज शर्मा हिसार और उसके आसपास के जिलों में काफी लोकप्रिय हैं। उनके जन सरोकारों के लिए प्रदेश सरकार भी कई बार उन्हें सम्मानित कर चुकी है। ऐसी स्थिति में यदि योगराज शर्मा माननीय मंत्री जी को मंत्री बनने के बाद पहली बार हिसार आने पर यदि उन्हें गुलदस्ता भेंट करने के लिए गए थे, तो इसमें कुछ भी गलत नहीं नजर आता है। अपने मंत्री को सम्मानित करना उन्हें गुलदस्ता भेंट करना प्रदेश के हर नागरिक का अधिकार है। यह भी हो सकता है कि किसी मामले को लेकर स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर गुप्ता और योगराज शर्मा के बीच अनबन रही हो, लेकिन उस कटुता का सरे आम प्रदर्शन कोई अच्छी बात नहीं है। इससे जनता में गलत मैसेज जाता है। वह भी लोकसभा चुनाव के समय, तो बिल्कुल नहीं।

Sanjay Maggu

-संजय मग्गू

लेटेस्ट खबरों के लिए क्लिक करें : https://deshrojana.com/

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

Vikramaditya on Kangana : विक्रमादित्य सिंह ने कंगना के खिलाफ EC में की शिकायत, भेजा मानहानि का नोटिस

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की मंडी लोकसभा सीट (Mandi loksabha seat) इन दिनों सुर्खियों में बनी हुई है कांग्रेस से विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditya Singh)...

संत दादू दयाल से प्रभावित हुआ अकबर

संत दादू दयाल का जन्म गुजरात के अहमदाबाद में सन 1544 को हुआ था। संत दादू दयाल बचपन से ही काफी दयालु किस्म के थे। यही...

वफादार और कर्मठ नेताओं के हक पर डाका डालते दलबदलू नेता

चुनाव...चुनाव...चुनाव। जहां भी चार आदमी जुटते हैं, वहीं चुनाव पर चर्चा शुरू हो जाती है। आफिसों में, चाय के ठेलों पर, घरों में यानी...

Recent Comments