शनिवार, सितम्बर 30, 2023
25.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

होमLIFESTYLEकब्ज की बीमारी से पुरुषों से ज्यादा महिलाएं रहती हैं परेशान, क्या...

कब्ज की बीमारी से पुरुषों से ज्यादा महिलाएं रहती हैं परेशान, क्या है कारण

- Advertisement -

ब्रिटेन की एक स्टार्टअप हेल्थ सर्वे की टीम ने एक रिसर्च के दौरान पाया कि महिलाओं को पुरूषों की तुलना में अधिक कब्ज़ होती है। इसके अलावा पुरुष बाथरूम में ज्यादा समय बिताते हैं। ‘द बिग पू रिव्यू’ नाम का यह सर्वे एक खास तरह का सर्वे था। जिसमें यूके के 18 साल और उससे अधिक उम्र के 142 से लेकर 768 व्यक्तियों को इस सर्वे में शामिल किया गया। जिसमें उनसे सवाल किया गया कि वे बाथरूम में कितना समय बिताते हैं। इसके अलावा इस रिसर्च के दौरान ये भी पाया गया कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं में अधिक चिड़चिड़ापन होता है। इस सर्वे की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार 13 प्रतिशत पुरुषों के मुकाबले में 23 प्रतिशत महिलाओं में कब्ज़ की समस्या देखने को मिली। वहीं 19 प्रतिशत महिलाएं आईबीएस से पीड़ित हैं जबकि उनकी तुलना में 10 प्रतिशत पुरुष ही आईबीएस से पीड़ित थे।

क्यों होती है औरतों में कब्ज़ की ज्यादा शिकायत
इंडियन एक्सप्रेस में छपे एक आर्टिकल के अनुसार, महिलाओं और पुरुषों के गट हेल्थ में बहुत अंतर होता है। इसलिए दोनों को ही अच्छे से समझने की जरूरत है। न्यूट्रिशनिस्ट के अनुसार, शारीरिक कारणों जैसे बच्चों के पालन पोषण के कारण महिलाओं का वज़न कूल्हों और जांघों की ओर अधिक बढ़ता है। आमतौर पर महिलाओं में हार्मोनल चेंजेज के कारण अधिक आंत संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ता है। महिलाएं विभिन्न चरणों जैसे मासिक धर्म चरणों, पीरियड्स, वे ल्यूटियल, पीएमएस आदि से गुज़रती हैं। इसी वजह से महिलाओं को कब्ज़ की समस्याएं अधिक होती हैं। रिसर्च के दौरान इस बात का भी खुलासा हुआ कि महिलाएं पुरुषों की तुलना में सार्वजनिक बाथरूम या बाथरूम में अधिक समय बिताने को लेकर बेहद असहज महसूस करती हैं। जिसकी वजह से यदा समय तक बाथरूम यूज़ न करने के कारण वे कब्ज़ का शिकार होती हैं।

बाथरूम में फोन का यूज़ करते हैं पुरुष
इस रिसर्च में यह भी खुलासा हुआ है कि पुरुषों की तुलना में महिलाएं अधिक तनाव से गुज़रती हैं। सामाजिक और आंतरिक तनाव की वजह से महिलाओं को ज्यादा तनाव का सामना करना पड़ता है। दिमाग और आंत का कनेक्शन ऐसा बनता है कि लगातार तनाव और चिंता की वजह से महिलाओं को जीआई-ट्रैक्ट की समस्याएं होती हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि शौच करने से पहले पुरुष शौचालय में धूम्रपान का सेवन करते हैं। पहले के समय पुरुष बाथरूम में अखबार पढ़ते थे। जबकि अब वे हम में से कई लोगों की तरह बाथरूम में फोन का यूज़ करते हैं, जिससे की बाथरूम में बिताने वाला समय बढ़ जाता है।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

पलवल में अलग-अलग जगह 3 हादसे, 1 की गई जान 2 गंभीर रूप से घायल

देश रोज़ाना: हरियाणा के पलवल से सड़क दुर्घटना के 3 मामले सामने आए है। यह सड़क हादसे अलग- अलग जगह हुए है। इन तीन...

क्या खत्म हो जाएगी आशा वर्कर्स की हड़ताल ?

देश रोज़ाना: हरियाणा की 20 हज़ार आशा वर्कर लंबे समय से अपनी मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन कर रही है। लेकिन आज आशा वर्करों...

बेनतीजा रही आशा वर्कर्स की बैठक, सरकार को दी एक और चुनौती

शुक्रवार को हरियाणा की सभी आशा वर्कर्स की मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव राजेश खुल्लर के साथ बैठक हुई। इस बैठक में सभी आशा वर्कर्स...

Recent Comments