Monday, May 27, 2024
34.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeHARYANAसेक्टर में कमर्शियल एक्टिविटी नहीं होगी बर्दाश्त

सेक्टर में कमर्शियल एक्टिविटी नहीं होगी बर्दाश्त

Google News
Google News

- Advertisement -

पृथला। सेक्टर 10 डी 2 आरडब्ल्यूए ने सेक्टर की समस्याओं को लेकर एक बैठक आयोजित की गई जिसमें कई अहम मुद्दों पर चर्चा करते हुए कई निर्णय लिए गए। अध्यक्षता पूर्व विधायक राजेंद्र सिंह बीसला ने की। बैठक सेक्टर 10 में हरदीप महाजन के निवास पर बुलाई गई जिसमें आरडब्ल्यूए व डी 2 से के निवासियों ने भाग लिया। इस बैठक में ब्लॉक से जुड़ी समस्याओं को लेकर आपस में विचार विमर्श किया।


बैठक में सर्वसम्मति से फैसला लिया गया कि ब्लॉक से जुड़ी सभी समस्या को आपस में मिलकर हल किया जाएगा। पूर्व विधायक बीसला ने कहा कि रिहायशी प्लॉटों में कमर्शियल एक्टिविटी का होना गलत है जिसकी वजह से सेक्टरों में प्रदूषण बढ़ रहा है। इससे हर शहरवासी को बहुत परेशानी होती है। आरडब्ल्यूए ने निर्णय लिया है अब सेक्टर में कमर्शियल एक्टिविटी बर्दाश्त नहीं।
आरडब्ल्यूए की इस बैठक में ध्वनि प्रदूषण पर चिंता जताते हुए कहा कि पार्क हॉस्पिटल में एम्बुलेंस का आना जाना लगा रहता है।कई बार एम्बुलेंस मे मरीज भी नहीं होता लेकिन एम्बुलेंस के ड्राइवर हॉर्न बजाते रहते हैं जिसकी वजह से ध्वनि प्रदूषण फैलता है। सर्वसम्मति से बैठक मे निर्णय लिया गया कि हॉस्पिटल को लिखित में दिया जायेगा कि ध्वनि प्रदूषण न फैलाया जाए। साथ ही ड्राइवरों को हिदायत दी जाएगी कि बिना मरीज के हॉर्न कतई न बजाएं।
सेक्टरवासी नेतराम चौहान ने कहा कि डीटू/के अंदर अधितर प्लॉट्स खाली पड़े हैं। उनके मालिकों से अनुरोध किया जाएगा कि उस समय समय पर अपने प्लॉट की सफाई कराए जिसकी वजह से प्लांट के अंदर खतरनाक कीड़े मकोड़े न पनप सके। वरिष्ठ अधिवक्ता शिवदत्त वशिष्ठ एडवोकेट ने कहा कि जल्दी ही ब्लॉक के अंदर हरियाली दार पौधे लगाए जाएंगे। घर के सामने जो पौधे लगे हैं। उनकी देख रेख भी की जाएगी। जल्द ही एक बड़ी बैठक आयोजित की जाएगी जिसमें सभी मिलकर ब्लॉक की समस्याओं का निवारण के लिए कार्य करेंगे। इस मौके पर एस सी शर्मा, विनोद भंसाली, आरपी नागर, लबली पंचाल ,राजेंद्र अग्रवाल, संजीव अग्रवाल,सतीश अग्रवाल ,जितेश महेन्द्रू समेत काफी संख्या में सेक्टरवासी मौजूद थे।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

कोंडदेव ने आजीवन पहना बिना बांह का कुर्ता

दादोजी कोंडदेव ने मराठा साम्राज्य के संस्थापक छत्रपति शिवाजी को सैन्य और धार्मिक शिक्षा दी थी। शिवाजी के पिता शाहजी की पूना की जागीर...

सूदखोरों के मकड़जाल में फंसकर कब तक जान गंवाते रहेंगे लोग?

मुंशी प्रेमचंद की एक कालजयी रचना है सवा सेर गेहूं। कहानी सूदखोर महाजन की लुटेरी व्यवस्था का बड़ा मार्मिक वर्णन करती है। कहानी का...

भारतीय मसालों की साख पर बट्टा लगाती कंपनियां

मध्य काल में भारतीय मसालों की कभी यूरोप तक जबरदस्त मांग थी। हल्दी, काली मिर्च, दालचीनी, अदरक, तेजपत्ता और लौंग का दीवाना तो आज...

Recent Comments