Monday, May 27, 2024
44.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeIndiaअगला आईपीएल खेलकर फैंस को गिफ्ट देंगे माही

अगला आईपीएल खेलकर फैंस को गिफ्ट देंगे माही

Google News
Google News

- Advertisement -

आईपीएल 2023 के फाइनल मैच के बाद प्रेजेंटेशन सेरेमनी में महेंद्र सिंह धोनी ने संन्यास को लेकर बातचीत की। उन्होंने कहा कि जिस तरह फैंस ने प्यार दिखाया है, ऐसे में वह अगला सीजन खेलकर उन्हें गिफ्ट देना चाहते हैं। मैच के बाद धोनी ने होस्ट से कहा- आप मेरे संन्यास को लेकर जवाब खोज रहे हैं? परिस्थिति के मुताबिक देखें तो यह मेरे संन्यास की घोषणा करने का सबसे अच्छा समय है। लेकिन इस साल मैं जहां भी रहा हूं, मेरे लिए फैंस ने जितना प्यार और स्नेह दिखाया है उसके लिए बहुत-बहुत धन्यवाद कहना आसान होगा। हालांकि, मेरे लिए सबसे मुश्किल बात यह होगी कि अगले नौ महीनों तक कड़ी मेहनत करूं और फिर वापस आकर आईपीएल का कम से कम एक और सीजन खेलूं।


धोनी ने कहा- काफी कुछ शरीर पर निर्भर करता है। मेरे पास फैसला करने के लिए 6-7 महीने हैं। यह मेरी तरफ से तोहफे की तरह होगा। यह मेरे लिए आसान नहीं है, लेकिन फैंस के लिए यह तोहफा है। जिस तरह से उन्होंने अपना प्यार और स्नेह दिखाया है, मुझे लगता है कि मुझे उनके लिए कुछ करना चाहिए। आप केवल इसलिए भावुक हो जाते हैं क्योंकि यह मेरे करियर का आखिरी हिस्सा है।
धोनी ने कहा- सबकुछ यहीं से शुरू हुआ था। जब मैं पहले मैच में मैदान पर आया तो सभी फैंस मेरा नाम चिल्ला रहे थे। तब मेरी आंखों में पानी भर आया और मैं कुछ देर डगआउट में वहीं खड़ा रहा। मुझे एहसास हुआ कि मैं इसका लुत्फ उठाना चाहता हूं। चेन्नई में भी ऐसा ही एहसास था, वहां पर मेरा आखिरी मैच था, लेकिन मैं वापसी करना चाहता हूं और मैं जो भी उनके (फैंस) लिए कर सकता हूं करूं और खेलूं। मैं जो हूं उसके लिए वे मुझसे प्यार करते हैं। मैं जिस तरह का क्रिकेट खेलता हूं, मुझे लगता है कि स्टेडियम में हर कोई सोचता है कि वे उस तरह से खेल सकते हैं क्योंकि इसमें कुछ भी आॅर्थोडॉक्स नहीं है। इसलिए मुझे लगता है कि वे किसी और से ज्यादा मुझसे जुड़ सकते हैं। मैं खुद को बदलना नहीं चाहता, मैं कभी भी खुद को इस तरह पेश नहीं करना चाहता था जो मैं नहीं हूं। मैं इसे सरल रखता हूं।


धोनी ने कहा- हर ट्रॉफी खास होती है, लेकिन आईपीएल की खास बात यह है कि हर क्रंच गेम के लिए आपको तैयार रहने की जरूरत है। यह हमने किया है। आज कुछ खामियां थीं, गेंदबाजी विभाग ने काम नहीं किया, लेकिन यह बल्लेबाजी विभाग था जिसने आज उन पर से दबाव हटा लिया। मैं भी गुस्सा हो जाता हूं। यह मानवीय है, लेकिन मैं उनकी स्थिति में खुद को रखने की कोशिश करता हूं। हर व्यक्ति दबाव से अलग तरीके से निपटता है। अजिंक्य और कुछ अन्य खिलाड़ी अनुभवी हैं, इसलिए आप उनके बारे में ज्यादा नहीं सोचते।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

Recent Comments