Wednesday, June 19, 2024
39.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeHARYANAFaridabadकलाकारों ने गीत संगीत व नृत्य के माध्यम से दर्शाई अपनी संस्कृति

कलाकारों ने गीत संगीत व नृत्य के माध्यम से दर्शाई अपनी संस्कृति

Google News
Google News

- Advertisement -

सूरजकुंड। 37वें सूरजकुंड अंतरराष्ट्रीय शिल्प मेले की मुख्य चौपाल पर देश-विदेश के कलाकारों ने अपने-अपने देश की संस्कृति व तीज त्यौहारो की छवि और वीरों की गाथाओं का गीत संगीत व नृत्य कला के माध्यम से बडा ही सुंदर वर्णन करके धूम मचा रहे हैं। मंगलवार को कलाकारों ने अपने देश की सुंदरता भरे उन रंगों की छवि को बड़ी खूबसूरती के साथ अपने गायन, संगीत तथा नृत्य कला से पेश किया कि चौपाल पर बैठे सभी दर्शक झूमने लगे और कलाकारों के सम्मान में पर्यटकों की तालिया से चौपाल गूंज उठी। गुजरात राज्य के कलाकारों ने गरबा नृत्य की जोरदार प्रस्तुति दी।

यह भी पढ़े: सूरजकुंड मेला में धूम मचा रही प्रसिद्ध शिल्पकार राजेंद्र बोंदवाल की कृतियां

संगीत के साथ-साथ शानदार नृत्य

वहीं एस्टोनिया देश के कलाकारों ने अपने देश की हरियाली व खुशहाली को अपने गीत संगीत के साथ-साथ शानदार नृत्य कला से पेश किया। गुजरात के पोरबंदर नगर से आए लाखन सिंह की टीम ने तलवार रास प्रस्तुत कर लोगों का मन जीत लिया। पुरातन समय में युद्ध अभ्यास के दौरान होने वाली तलवार बाजी के माध्यम से ही तलवार रास की शुरूआत माना जाती है। इसी को लेकर बडी चौपाल पर थीम स्टेट गुजरात के कलाकारों ने तलवार रास का शानदार प्रदर्शन करते हुए दर्शकों को दांतो तले उंगली दबाने पर मजबूर कर दिया।

वीरों की गौरवगाथा को तलवार

पोरबंदर के कलाकार ने वीरों की गौरवगाथा को तलवार रास के माध्यम से बड़ी ही सुंदरता के साथ प्रदर्शित किया। मेडागास्कर देश के कलाकारों ने अपने देश की संस्कृति को रैलीनिवा सॉन्ग द्वारा प्रस्तुत किया तथा कांगो इत्यादि देश के कलाकारों ने अपने गीत, संगीत तथा डांस की शानदार पेशकश से पर्यटकों की वाह-वाही लूटी।

खबरों के लिए जुड़े रहे : https://deshrojana.com/

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

आ गया Motorola Edge 50 Ultra , दमदार फीचर्स जानकर उड़ जाएंगे होश

भारतीय बाज़ारों में Motorola Edge 50 Ultra लॉन्च हो गया है स्मार्टफोन (Smartphone) के दीवानों के लिए ये सबसे बढ़िया ऑप्शन साबित हो सकता...

पाप का गुरु मन में बैठा लोभ है

प्राचीनकाल में किसी गांव में एक पंडित जी रहते थे। वह नियम धर्म के बहुत पक्के थे। किसी के हाथ का छुआ पानी तक नहीं पीते...

हरियाणा में सस्ती क्यों नहीं हो सकती एमबीबीएस की पढ़ाई?

हरियाणा सरकार ने विदेश से एमबीबीएस की डिग्री लेकर आए डॉक्टरों के लिए दो से तीन साल की इंटर्नशिप अनिवार्य कर दी है। प्रदेश...

Recent Comments