Sunday, May 19, 2024
40.7 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeIndiaगोलगप्पे खाने के लिए दिखाना होगा आधार कार्ड, वीडियो देख आप हो...

गोलगप्पे खाने के लिए दिखाना होगा आधार कार्ड, वीडियो देख आप हो जाएंगे खुश

Google News
Google News

- Advertisement -

दुनिया में आपको खाने शौक़ीन तो बहुत देखने को मिलेंगे और देश में इनकी कोई कमी भी नहीं है। जिसकी वजह से लोगो के स्वाद का ध्यान रखते हुए बाजार में कई चीजे आती है। नए नए स्वादों का स्ट्रीट वेंडर भी खोज करते हुए नजर आ रहे हैं। यह लोग भी खाने के साथ एक्सपेरिमेंट करने में बिलकुल भी नहीं कतराते है। देखा जाता है कि बुजुर्गो से लेकर बच्चो तक सभी का अलग टेस्ट देखने को मिलता है। लेकिन एक ऐसी चीज हैं जो हर शख्स की पसंद है हर व्यक्ति को वो खाना बेहद पसंद होता है। हम बात कर रहे गोलगप्पे की जो फ़ास्ट फ़ूड की श्रेड़ी में काउंट किया जाता है लेकिन उसके लिए लोगो की लम्बी कतारे लगी रहती है।  इसके लिए लोग पैसे खर्चने को तैयार रहते है। ऐसा ही कुछ इस वीडियो में आपको देखने को मिलेगा यह वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। जिसको देख कर आप अपनी हंसी कण्ट्रोल नहीं कर पाएंगे।

एक मजेदार वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर खूब देखा जा रहा है। जो फुचका, पानी के बताशे, गुपचुप और पानीपुरी के नाम जाने जाने  वाला यानि गोलगप्पे का एक वीडियो जो इस वक्त लोगो द्वारा खूब पसंद किया जा रहा है। आप लोगो ने यह तो सुना होगा कि गोलगप्पे खाने के पैसे देने होते है लेकिन क्या आपने कभी ये सुना है कि गोलगप्पे खाने के लिए आपको आधार कार्ड देना होगा। नहीं न तो जरूर देखे यह वीडियो जिसको सोशल मीडिया के एक प्लेटफार्म इंस्टाग्राम पर शेयर किया गया है।

इस वीडियो शेयर करते हुए यूजर ने कैप्शन में लिखा है कि  ‘यहां आधार कार्ड देख के मिलते हैं गोलगप्पे.’ वीडियो में आप लोग साफ तौर से देख सकते है कि फूड ब्लॉगर बोल रहा है कि 20 रुपये में यहां 6 गोलगप्पे मिलते है। लेकिन यहाँ पर सबसे ज्यादा हैरानी की बात यह है कि यहाँ पर महिलाओ को गोलगप्पे नहीं खिलाये जाते यहाँ पर केवल पुरषो को ही गोलगप्पे खिलाए जाते हैं। इस वीडियो में आप देख सकते है कि ठेले पर लिखा हैं कि यहां 18 साल से नीचे वालों को गोलगप्पे नहीं खिलाए जाएंगे। साथ ही अगर गोलगप्पे बेचने वाले शख्स की मानें तो उसके गोलगप्पे शुगर और अटैक दोनों पर काम

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

सीवी रमन बोले, मुझे ईमानदार वैज्ञानिक चाहिए

प्रकाश प्रकीर्णन के क्षेत्र में खोज करने के लिए विख्यात सर चंद्रशेखर वेंकट रमन का जन्म 7 नवंबर 1888 में हुआ था। सर सीवी रमन...

प्रचंड गर्मी के लिए प्रकृति के साथ पूरा मानव समाज जिम्मेदार

राजनीतिक रूप से तो प्रदेश का पारा चढ़ा ही है, लेकिन सूरज ने भी अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। पूरा उत्तर भारत...

अरविंद केजरीवाल ने बहुत सोच समझकर चुनौती दी है

इसमें कोई दो राय नहीं है कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल कुशल राजनीतिज्ञ हैं। वह माहौल को अपने पक्ष में कैसे बदला जाए,...

Recent Comments