Friday, June 21, 2024
31.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeHARYANA62 हजार किसानो को मिला प्रधानमंत्री सम्मान योजना का लाभ

62 हजार किसानो को मिला प्रधानमंत्री सम्मान योजना का लाभ

Google News
Google News

- Advertisement -

देश के प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने किसान के हितों को ध्यान में रखते हुए कई योजनाएं बनाई, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना उनमें से एक है। यह वक्तव्य विधायक दीपक मंगला ने गुरूवार को असावटा मोड पर उपमंडल कृषि अधिकारी कार्यालय में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना की 14वीं किस्त जारी करने के अवसर पर किसानों को संबोधित करते हुए व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि इस योजना से जिला पलवल के करीब 62 हजार किसानों को लाभ मिला है। इस अवसर पर विधायक दीपक मंगला ने कार्यक्रम में मौजूद समस्त किसानों के साथ राजस्थान के सीकर से प्रसारित प्रधानमंत्री नरेद्र मोदी के उद्बोधन को लाइव प्रसारण के माध्यम से सुना व देखा। जिले के सभी खंड कार्यालयों में भी किसानों की उपस्थिति में कृषि विभाग द्वारा इस कार्यक्रम का लाइव प्रसारण दिखाया व सुनाया गया।

विधायक दीपक मंगला ने कार्यक्रम में मौजूद किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि भारत एक कृषि प्रधान देश है और देश की अधिकतम भूमि पर कृषि कार्य किया जाता है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से देश के करोड़ो कृषकों को सीधा लाभ मिल रहा है। मंगला ने कहा कि देश में ऐसे भी किसान है जिनके पास खेती की जमीन कम हैं लेकिन उनके परिवार बडे हैं। ऐसे किसानों के लिए खेती हेतु खाद-बीज की खरीद करना कठिन होता था। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऐसे किसानों के कल्याण के लिए इस योजना को शुरू किया। इस योजना के तहत किसान को वर्ष भर में मिलने वाले 6 हजार रुपए से ऐसे किसान खेती के लिए खाद-बीज की खरीद करके खेती कर रहे हैं। इसके परिणाम स्वरूप वे साल भर के लिए अपने पशुओं हेतु चारा तथा अपने परिवार के लिए अन्न पैदा करते हैं। विधायक दीपक मंगला ने कहा कि यह राशि किसानों की छोटी-छोटी आवश्यकताओ को पूरा करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है। यह किसानों के लिए निश्चित तौर पर बहुत हितकारी व कल्याणकारी योजना है, जिसका सीधा लाभ किसानों को पहुंच रहा है।

कृषि उपनिदेशक डा. अनिल सहरावत ने किसानों को प्राप्त होने वाली किसान सम्मान निधि के लिए केन्द्र सरकार का आभार व्यक्त किया तथा किसानों से आह्वद्दान किया कि जिन किसानों ने अपनी ई-केवाईसी तथा जमीन का सत्यापन नहीं करवाया है, वे सभी किसान विभाग या सी.एस.सी. के सहयोग से दस्तावेज दुरूस्त करवाकर अपनी रूकी हुई किस्त प्राप्त कर सकते हैं। इस अवसर पर उपमंडल कृषि अधिकारी डा. मंजीत सिंह, खंड कृषि अधिकारी देवेन्द्र कुमार तथा जिले से विभिन्न गांवो से आए किसानो मौजूद रहे।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

भीषण अव्यवस्था का पर्याय बनते हरियाणा के सरकारी अस्पताल

हरियाणा के अस्पतालों में अव्यवस्था कम होने का नाम नहीं ले रही है। इन दिनों जब भीषण गर्मी और अन्य बीमारियों की वजह से...

महात्मा बुद्ध ने समझाया, शरीर नश्वर है

जब कोई व्यक्ति अपने आराध्य के गुणों, कार्यों और वचनों को याद रखने, उनके बताए गए मार्ग का अनुसरण करने की जगह मूर्ति बनाकर...

जदयू सांसद ने कहीं पैरों पर कुल्हाड़ी तो नहीं मार ली!

जदयू सांसद देवेश चंद्र ठाकुर का मुस्लिम और यादवों को लेकर दिए गए बयान का असर बिहार की राजनीति में बहुत दिनों तक...

Recent Comments