Monday, May 27, 2024
37.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeHARYANAFaridabadलाख दावों के बावजूद यातायात जाम में फंस रही एम्बुलेंस

लाख दावों के बावजूद यातायात जाम में फंस रही एम्बुलेंस

Google News
Google News

- Advertisement -

ट्रेफिक पुलिस के अधिकारी शहर की सड़कों को जाम मुक्त बनाने के लिए लगातार कई तरह के प्रयास कर रहे हैं। लेकिन इसके बाद भी शहर में जगह जगह जाम लग रहा है। सबसे अधिक परेशानी एम्बुलेंस चालकों को झेलनी पड़ती है। शहर की सड़के ही नहीं अस्पतालों के भीतर भी आजकल जाम लगने लगा है। ऐसा ही बीके अस्पतालों और शहर की सड़कों पर देखने को बृहस्पतिवार को मिला।

चौक पर फंसी एम्बुलेंस

एनआइटी विधानसभा क्षेत्र में स्थित बाबा दीप सिंह चौक पर रोजाना सुबह और शाम के समय जाम लग रहा है। इस चौक से जवाहर कालोनी , बीके चौक, सैनिक कालोनी, ओल्डफरीदाबाद, एनआईटी, बड़खल विधानसभा, गुरूग्राम और सोहना रोड जाने वाले लोग जाम के कारण परेशान होते हैं । सुबह और रात आठ बजे के बाद यहां लम्बा जाम लग जाता है।जिसका खामियाजा यहां से निकलने वाले नौकरी पेशा लोगों को भुगतना पड़ता है। बृहस्पतिवार को इस चौक पर एम्बुलेंस भी तक जाम में फंस रही है। इस दौरान करीब 20 से 25 मिनट तक एम्बुलेंस जाम में फंसी रही।

लगानी पड़ी Oxygen:

एम्बुलेंस एनएच_ तीन स्थित एक निजी अस्पताल की थी। एम्बुलेंस चालक ने बताया कि मरीज को जाम के कारण 20 से 25 मिनट तक एम्बुलेंस में एक ही स्थान पर खडे रहने से सांस लेने में दिक्कत होने लगी। जिस पर मरीज को Oxygen लगानी पड़ गई। चालक ने बताया कि लोग आगे निकलने के चक्कर में एम्बुलेंस को रास्ता नहीं दे रहे थे।

बीके में भी जाम:

सड़कों के साथ अब निजी वाहन और ऑटो के कारण बीके सिविल अस्पताल में भी आए दिन एम्बुलेंस जाम में फंस रही है।दो मिनट में एम्बुलेंस गेट से पार होनी चाहिए। लेकिन यहां दस मिनट का समय लग जाता है।  जिसके कारण कई बार मरीजों की जान जोखिम में पड़ जाती है तो कई बार डिलीवरी तक एम्बुलेंस में हो जाती है। हालांकि अस्पताल प्रबंधन वाहनों को हटाने के लिए प्रयास करता है। इसी कड़ी में बृहस्पतिवार को पीएमओं ने अस्पताल को जाम मुक्त करवाने के लिए दौरा किया। लेकिन यहां आए दिन निजी वाहन और ऑटो चालकों का कब्जा अपातकालीन, ओपीडी के बाहर तक रहता है । जिससे पैदल निकलने वाले मरीजों को खासी परेशानियां झेलनी पड़ती है।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

Recent Comments