Thursday, June 20, 2024
30.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeHARYANAनौ मार्च से बदलेगी मेवात की दिशा व दशा

नौ मार्च से बदलेगी मेवात की दिशा व दशा

Google News
Google News

- Advertisement -

पुन्हाना। बडकली चौक पर राजा हसन खां मेवाती के बलिदान दिवस को भव्य बनाने के लिए सामाजिक संगठनों के साथ-साथ अब भारतीय जनता पार्टी ने भी सक्रियता बढ़ा दी है। रविवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मीडिया समन्वयक के साथ भाजपा जिलाध्यक्ष नरेंद्र पटेल ने गाँवों की पगडंडी नापी। कार्यक्रम को लेकर भाजपा नेताओं ने गाँव कोटला-कंसाली, करहेडा, अकलीमपुर, राजाका, मढी और उमरा में आयोजित नुक्कड सभाओं को संबोधित किया। मुख्यमंत्री के मीडिया समन्वयक मुकेश वशिष्ठ ने कहा कि मेवात काला पानी नहीं, वीर और बलिदानियों की भूमि है। मुगल काल से लेकर अंग्रेजों के खिलाफ 1857 की क्रांति और जंग-ए-आजादी में मेवातियों का अतुलनीय योगदान है।

बड़े पैमाने पर लोगों को लाभ पहुंचा

आजादी की लड़ाई में हजारों मेवातियों ने अपने प्राणों की आहुति दी। राजा हसन खां मेवाती सभी बलिदानियों के प्रेरणास्रोत हैं और सांझी विरासत ताकत। भाजपा जिलाध्यक्ष नरेन्द्र पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल मेवात की सांझी विरासत की खुशबू को देश भर में फैलाने के लिए प्रयासरत है। 9 मार्च को बडकली चौक पर होने वाला राजा हसन खां मेवाती बलिदान दिवस समारोह मेवात की नई दिशा और दशा तय करेगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में मेवात लगातार विकास पर अग्रसर है। पहली बार मेवात के युवाओं को निष्पक्ष और योग्यता के आधार पर ईमानदारी से नौकरी मिल रही है। बीते नौ साल में स्कूल व काॅलेजों की संख्या को बढ़ाया गया है। नीति आयोग के हालिया रिपोर्ट के मुताबिक आकांक्षी जिला कार्यक्रम के अंतर्गत नूंह ज‍िले ने स्वास्थ्य और पोषण, शिक्षा और कृषि और जल संसाधन आदि में बड़े पैमाने पर सुधार कर लोगों को लाभ पहुंचाया है।

यह भी पढ़ें : राष्ट्रीय सेवा योजना स्वयं सेवकों को स्वास्थ्य सुरक्षा एवं आहार के बारे में किया जागरूक

इस मौके पर जिला उपाध्यक्ष बोले

इसके चलते नीत‍ि आयोग ने नूंह को आकांक्षी जिला कार्यक्रम के अंतर्गत डेल्टा रैंकिंग में दूसरा स्थान पर रखा है। इस मौके पर जिला उपाध्यक्ष ताहिरा बेगम, ब्लॉक समिति सदस्य बीरबल भारद्वाज, सरपंच रामपाल, सरपंच शौकत भादस, फखरू सरपंच करहेडी, हारूण सरपंच कनसाली, निसार सरपंच जैंतांका, सामाजिक कार्यकर्त्ता हसुका, काला सरपंच अकलीमपुर, आबिद सरपंच, फारूख, पूर्व सचिव अकबर और जैकम सहित अनेक लोग मौजूद थे।

खबरों के लिए जुड़े रहें : https://deshrojana.com/

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

पाप का गुरु मन में बैठा लोभ है

प्राचीनकाल में किसी गांव में एक पंडित जी रहते थे। वह नियम धर्म के बहुत पक्के थे। किसी के हाथ का छुआ पानी तक नहीं पीते...

दक्षिण भारत को प्रियंका और उत्तर प्रदेश को संभालेंगे राहुल

आखिरकार राहुल गांधी ने वायनाड सीट छोड़ने और अपनी बहन प्रियंका गांधी को वायनाड से लड़ाने का फैसला कर ही लिया। इस बात की...

किरण चौधरी ने क्यों छोड़ा हरियाणा कांग्रेस का साथ, क्या रहे अंदरूनी कारण?

हरियाणा की राजनीती में अपनी छाप छोड़ने वाले पूर्व मुख्यमंत्री बंसी लाल की पुत्रवधु किरण चौधरी ने हरियाणा कांग्रेस का साथ छोड़ अपना रास्ता...

Recent Comments