Thursday, May 23, 2024
33.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeHARYANAआठ मार्च को महाशिवरात्री का पर्व, प्राचीन मंदिर पर जुटेंगे हजारों श्रद्धालु

आठ मार्च को महाशिवरात्री का पर्व, प्राचीन मंदिर पर जुटेंगे हजारों श्रद्धालु

Google News
Google News

- Advertisement -

फिरोजपुर झिरका। नूंह जिले की धार्मिक एवं ऐतिहासिक नगरी फिरोजपुर झिरका की अरावली पर्वत श्रृंखलाओं के बीचों बीच बने पांडव कालीन शिव मंदिर यानी कि नलहरेश्वर महादेव मंदिर पर आगामी आठ मार्च को महाशिवरात्रि का पर्व हर्षोउल्लास के साथ मनाया जाएगा। यहां महाशिवरात्रि पर्व पर लगने वाले मेले की भी तैयारियां मंदिर पर जोरशोर से चल रही हैं।

पांडव कालीन शिवमंदिर

मेले की तैयारियां हुईं पूरी

इस संदर्भ में शिवमंदिर विकास समिति के प्रधान अनिल गोयल ने जानकारी देते हुए बताया कि शिव मंदिर पर लगने वाले मेले की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। उन्होंने बताया कि महाशिवरात्री के पर्व को देखते हुए मंदिर को भव्य आकार देकर रंग बिरंगी लडियों से सजाया गया है। साथ ही मेले पर सुरक्षा की दृष्टि से सीआरपीएफ जवानों के साथ स्थानीय पुलिस की मदद ली जा रही है।

पांडव कालीन शिवमंदिर

यह भी पढ़ें : दूषित पेयजल हो रहा सप्लाई, कई बार कर चुके शिकायत फिर भी विभाग मौन

पांडवों ने की थी शिवलिंग की स्थापना

प्रधान अनिल गोयल ने बताया कि देश की राजधानी दिल्ली से मात्र 110 किलोमीटर की दूरी पर नूंह जिले के शहर फिरोजपुर झिरका की अरावली पर्वत श्रृंखलाओं में प्राचीन शिव मन्दिर का इतिहास से अनूठा संबंध है। इस प्राचीन शिव मंदिर के विषय में मान्यता है कि पांडवों ने अज्ञातवास के दौरान इस रमणीक स्थल पर कुछ समय व्यतीत कर पूजा अर्चना कर शिवलिंग की स्थापना की थी। तभी से यह जगह तपोभूमि के रूप में विख्यात हो गई और यह शिव मंदिर लाखों लोगों की आस्था का केंद्र बन गया।

उन्होंने बताया कि यहां महाशिवरात्रि वाले दिन हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश सहित दिल्ली सहित देश के कई राज्यों से भारी संख्या में शिव भक्त आते हैं। उन्होंने बताया कि महाशिवरात्रि पर्व के अवसर पर लगने वाले मेले व इसमें जुटने वाली भीड़ को लेकर मंदिर समिति द्वारा जरुरी दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। मेले के कार्यक्रम में व्यवस्था बनाने के लिए वालंटियर नियुक्त किए गए हैं। इसके अतिरिक्त मंदिर परिसर पर सीसीटीवी कैमरे व वाकीटाकी की सुविधा भी प्रदान की गई है।

लेटेस्ट खबरों के लिई जुड़े रहें : https://deshrojana.com/

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

कबीरदास ने सिखाया सरलता का पाठ

संत कबीरदास समाज सुधार ही नहीं, एक कवि भी थे। उन्होंने अपनी कविताओं के माध्यम से समाज को सुधार की दिशा में प्रवृत्त किया...

कभी खाई है लौकी की खीर, स्वाद के आगे भूल जाएंगे सब कुछ

मीठे के दीवाने कई लोग है लेकिन रोज-रोज आप एक ही तरह का मीठा नहीं खा सकते इसलिए बदल -बदल कर क्या बनाए ये...

अब तो चुनाव को लेकर बदलने लगा मतदाताओं का मिजाज

लोकसभा चुनाव का परिदृश्य ही इस बार बदला हुआ नजर आ रहा है। लग ही नहीं रहा है कि यह लोकसभा चुनाव का माहौल...

Recent Comments