Wednesday, June 19, 2024
42.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeHARYANAFaridabadविकसित भारत के लिए मताधिकार का उपयोग करें

विकसित भारत के लिए मताधिकार का उपयोग करें

Google News
Google News

- Advertisement -

फरीदाबाद। हमे यह नहीं सोचना चाहिए कि हम आते कहां से हैं बल्कि हमे यह निर्णेय लेना चाहिए कि हमे जाना कहाँ है। इसी सोच के तहत ही आपकों अपने भविष्य का फैसला करना चाहिण्। अपना और देश का भविष्य सुनहरा बनाने के लिए मताधिकार का सोच समझकर उपयोग करना चाहिए। क्योंकि आपके द्वारा किया गया कीमती मतदान ही न केवल आपका बल्कि देश का भी भविष्य तय करता है। यह कहना था मुख्यमंत्री मनोहर लाल के मीडिया सलाहकार एवं भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव जेटली का। राजीव जेटली बृहस्पतिवार को केएल महता दयानंद महिला महाविद्यालय में राष्ट्रीय मतदाता दिवस के मौके पर विद्यार्थियों को सम्बोधित कर रहे थे।


देश की सरकार बनी

इस मौके पर उन्होंने कहा कि युवा अपने मत का सही तरीके से इस्तेमाल कर देश को प्रगति के पथ पर अग्रसर कर सकते है। उन्होंने कहा कि कुछ साल पहले तक जब हम किसी बस में सफर कर रहे होते थे या फिर किसी चौराहे पर खड़े होते थे तो लोगों को एक ही चर्चा करते देखते थे कि इस देश का अब कुछ नहीं हो सकता है। लेकिन वर्ष 2014 में जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश की सरकार बनी तो लोगों को वर्ष 2015 से देश में विकास में रूप में आने वाला बदलाव महसूस होने लगा। आप खुद महसूस कर रहे होंगे कि पिछले दस सालों में देश न केवल आधुनिक संसाधनों से परिपूर्ण हुआ है बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वजह से पूरे विश्व में भारत का सम्मान बढ़ गया है। आजादी के बाद भारत को विकासशील देश में रूप में जाना जाता रहा है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार देश को वर्ष 2047 तक भारत को विकसित देश बनाने प्रण लिया है । पीएम मोदी के देशभर में जनता भारत को विकसित देश बनाने में अपना योगदान देने का संकल्प ले रही है।

यह भी पढ़ें : धूमधाम से मनाया जाएगा 75 वां गणतंत्र दिवस समारोह : एडीसी आनंद शर्मा


सुनहरे भविष्य का फैसला करने के लिए

उन्होंने कहा कि युवा अपने और देश के सुनहरे भविष्य का फैसला करने के लिए मत का उपयोग सोच समझ कर करें। उन्होंने कहा कि केएल महता दयानंद तो वह शिक्षण संस्थान है, जहां बच्चों को शिक्षा के साथ साथ संस्कार भी दिये जाते हैं। यहां नियमित रूप से हवन करने के साथ साथ देश की संस्कृति के बारे में बच्चों को गहनता के साथ बताया जाता है। उन्होंने भी इसी शिक्षण संस्थान से स्कूली शिक्षा हासिल की है। स्वर्गीय केएल महता ने उस समय इस शहर में निजी शिक्षण संस्थान की नींव रखी थी, जब यहां शिक्षा के बारे में बहुत ज्यादा जागरूकता नहीं थी। इस शिक्षण संस्थान से पढ़ चुके विद्यार्थी आज वरिष्ठï आईएएस अधिकारी, उद्योगपति, व्यवसायी और उच्च पदों पर कार्यरत है। इस मौके पर उन्होंने महाविद्यालय की छात्रों को विकसित भारत बनाने में अपना योगदान देने के लिए संकल्प भी दिलवाया।

खबरों के लिए जुड़े रहे : https://deshrojana.com/

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

दक्षिण भारत को प्रियंका और उत्तर प्रदेश को संभालेंगे राहुल

आखिरकार राहुल गांधी ने वायनाड सीट छोड़ने और अपनी बहन प्रियंका गांधी को वायनाड से लड़ाने का फैसला कर ही लिया। इस बात की...

आ गया Motorola Edge 50 Ultra , दमदार फीचर्स जानकर उड़ जाएंगे होश

भारतीय बाज़ारों में Motorola Edge 50 Ultra लॉन्च हो गया है स्मार्टफोन (Smartphone) के दीवानों के लिए ये सबसे बढ़िया ऑप्शन साबित हो सकता...

पाप का गुरु मन में बैठा लोभ है

प्राचीनकाल में किसी गांव में एक पंडित जी रहते थे। वह नियम धर्म के बहुत पक्के थे। किसी के हाथ का छुआ पानी तक नहीं पीते...

Recent Comments