Wednesday, April 24, 2024
23.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeIndiaHimachal Pradesh Crisis: किस ओर चली हिमाचल की राजनीती? BJP के 14...

Himachal Pradesh Crisis: किस ओर चली हिमाचल की राजनीती? BJP के 14 विधायक सस्पेंड

Google News
Google News

- Advertisement -

Himachal Pradesh Live Updates: राज्यसभा चुनाव के नतीजों के बाद हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की राजनीती में उथल-पुथल मची हुई है। राजनीती तब और गरमा गई जब कांग्रेस के छह विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की। हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में एक सीट को लेकर चुनाव किया गया जिसमें बीजेपी (BJP) प्रत्याशी हर्ष महाजन की जीत हुई, जबकि कांग्रेस (Congress) के उम्मीदवार अभिषेक मनु सिंघवी को क्रॉस वोटिंग की वजह से हार का सामना करना पड़ा।

बीजेपी  विधायक

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की सियासत में लगी असंतोष की आग कम होने का नाम नहीं ले रही है। एक ओर वीरभद्र सिंह के बेटे और राज्य सरकार में मंत्री विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditya Singh) ने सुक्खू सरकार से इस्तीफा दे दिया है वहीं दूसरी तरफ विधानसभा स्पीकर ने जयराम ठाकुर समेत बीजेपी (BJP) के पांच विधायकों को सस्पेंड कर दिया है। जयराम ठाकुर (Jairam Thakur) ने ऐसा होने से पहले ही आशंका जता दी थी। विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditya Singh) के इस्तीफे के बाद विधानसभा में विपक्ष के हंगामे के बीच स्पीकर ने बड़ा एक्शन लेते हुए बीजेपी के 14 विधायकों को सदन से सस्पेंड कर दिया है।

विक्रमादित्य सिंह

विधायकों ने की क्रॉस वोटिंग

बीजेपी (BJP) के इन विधायकों में नेता प्रतिपक्ष जयराम ठाकुर भी शामिल हैं। दरअसल, राज्यसभा चुनाव को लेकर बीजेपी के पास बहुमत नहीं था, लेकिन कांग्रेस (Congress) के छह विधायकों ने क्रॉस वोटिंग करके पूरा खेल बदल दिया। इसके अलावा तीन निर्दलीय विधायकों ने भी कांग्रेस का साथ नहीं दिया, जिसकी वजह से कांग्रेस (Congress) और बीजेपी दोनों के उम्मीदवारों को बराबर-बराबर वोट मिले। जिससे समस्य खड़ी हो गई और अंत में पर्ची के जरिए किए गए फैसले में बीेजेपीे के प्रत्याशी की जीत हुई है।

बीजेपी के विधायक

यह भी पढ़ें : Rajya Sabha election: अखिलेश का भेदी सपा ढाए, पार्टी के विधायकों ने क्यों की क्रॉस वोटिंग?

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) में ऐसा पहली बार हुआ है जब राज्यसभा चुनाव में दो उम्मीदवारों में बराबर-बराबर वोट मिलने की वजह से पर्ची से हार जीत का फैसला करना पड़ा। लेकिन सारी मशक्त करने के बावजूद भी कांग्रेस को हार का सामना पड़ा जिसका नतीजा हिमाचल की राजनीती में मची उथल-पुथल से देखा जा सकता है।

लेटेस्ट खबरों के लिए क्लिक करें : https://deshrojana.com/

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

भारत तोड़ो की राजनीति तुरंत बंद करे कांग्रेस पार्टी : प्रमोद सावंत

पणजी/नई दिल्ली, 23 अप्रैल- कांग्रेस नेता विरियाटो फर्नांडीस के गोवा पर भारतीय संविधान थोपने संबंधी बयान पर राज्य के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने भयावह...

Recent Comments