Friday, June 14, 2024
34.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeLATESTJunior Hockey World Cup : युवा लगाएंगे दम, तो ब्रॉन्ज जीत पाएंगे...

Junior Hockey World Cup : युवा लगाएंगे दम, तो ब्रॉन्ज जीत पाएंगे हम

Google News
Google News

- Advertisement -

Junior Hockey World Cup 2023 bronze medal match india vs spain : जूनियर पुरुष हॉकी विश्व कप (Hockey World Cup) में आज भारतीय हॉकी टीम का सामना स्पेन से होगा। अब तक मौकों का फायदा उठाने में नाकाम रही भारतीय टीम को अगर कांस्य पदक जीतना है तो उसे मजबूत स्पेन को हराना होगा। इसके लिए खिलाड़ियों को अपने खेल में सुधार करना होगा।

Hockey World Cup : जर्मनी के खिलाफ किया था खराब प्रदर्शन

भारत ने गुरुवार को जर्मनी के खिलाफ सेमीफाइनल (Hockey World Cup) में 12 पेनल्टी कॉर्नर गंवाए थे। इस मैच में भारत को 1-4 से हार का सामना करना पड़ा था। इस पराजय से भारतीय टीम का मनोबल गिरा होगा। लेकिन अगर उसे पोडियम (शीर्ष तीन में शामिल) पर पहुंचना है तो स्पेन के खिलाफ अवसरों को भुनाना होगा।

स्पेन से मात खा चुका है भारत

पूल चरण के मैच (Hockey World Cup) में स्पेन ने भारत को 4-1 से हराया था। स्पेन की टीम भी दूसरे सेमीफाइनल में फ्रांस के हाथों 1-3 से हार कर आई है। हालांकि, वह कांस्य पदक जीतने के लिए किसी तरह की कसर नहीं छोड़ेगी। भारतीय टीम भी इस प्रतियोगिता में चौथी बार पोडियम पर पहुंचने की कोशिश करेगी।

2001 और 2016 में भारत का शानदार प्रदर्शन

भारत ने इस टूर्नामेंट (Hockey World Cup) में दो बार (होबार्ट में 2001 और लखनऊ में 2016) स्वर्ण पदक और 1997 में इंग्लैंड के मिल्टन केंस में रजत पदक जीता था। लेकिन, उत्तम सिंह की अगुवाई वाली टीम को अगर इस सूची में शामिल होना है तो उसे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होगा। भारत के लिए यह प्रतियोगिता मिश्रित सफलता वाली रही है।

उसने क्वार्टर फाइनल में विश्व की नंबर चार टीम नीदरलैंड को 4-3 से हराया था। हालांकि, छह बार के चैंपियन जर्मनी के खिलाफ उसके खिलाड़ी यह लय बरकरार नहीं रख पाए।

हमने कई मौके गंवाए : भारतीय कप्तान

भारतीय कप्तान उत्तम ने स्वीकार किया कि उन्होंने कई मौके गंवाए हैं। उनके पास अब भी पोडियम पर पहुंचने का मौका है। वह इसके लिए अपनी तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

उत्तम ने कहा कि हमें काफी मौके मिले, लेकिन हम उनका फायदा नहीं उठा पाए। हमने पेनल्टी कार्नर को गोल में बदलने की कोशिश की लेकिन ऐसा करने में नाकाम रहे। हमें गेंद पर नियंत्रण बनाए रखने की जरूरत है।

अभी भी टूर्नामेंट में बरकरार

कप्तान ने कहा कि हम अभी टूर्नामेंट से बाहर नहीं हुए हैं। हमें कांस्य पदक का मैच खेलना है। जो कुछ भी हुआ उसे हम नहीं बदल सकते हैं। हमारा पूरा ध्यान अब अगले मैच पर है।

जहां तक स्पेन की बात है तो उसकी टीम अभी तक इस टूर्नामेंट के फाइनल में जगह नहीं बना पाई है। उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2005 में रहा था, जब उसकी टीम ने कांस्य पदक जीता था।

Hockey World Cup : स्पेन बनाम भारत

भारत और स्पेन ने पुरुष जूनियर विश्व कप में अभी तक एक दूसरे के खिलाफ आठ मैच खेले हैं। इनमें से स्पेन ने पांच मैच में जीत दर्ज की है। इस बीच 2021 में भुवनेश्वर में उप विजेता रही जर्मनी की टीम फाइनल में फ्रांस का सामना करेगी। फ्रांस ने पिछली बार कांस्य पदक जीता था।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

माहौल खराब करने से बेहतर आप और कांग्रेस बातचीत करें

इन दिनों हरियाणा के राजनीतिक परिदृश्य में इंडिया गठबंधन के बिखरने की बात कही जा रही है। इस बात को भाजपा नेता बड़ी जोरशोर...

एक दिन पूरी दुनिया को ले डूबेगा जलवायु परिवर्तन

पूरा उत्तर भारत तप रहा है। यह तपन जलवायु परिवर्तन के कारण है। इस तपन के कारण मानव क्षति भी हो रही है और आर्थिक क्षति भी।...

संत नामदेव ने छाल की तरह अपनी खाल उतारी

महाराष्ट्र के संत नामदेव ने जीवन भर प्रभु भक्ति और समता का प्रचार किया। वह अपने समय के प्रसिद्ध संत ज्ञानेश्वर के साथ उत्तर...

Recent Comments