Thursday, July 25, 2024
30.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeEDITORIAL News in Hindiमां से बढ़कर दूसरा कोई सहनशील नहीं

मां से बढ़कर दूसरा कोई सहनशील नहीं

Google News
Google News

- Advertisement -

स्वामी विवेकानंद ने शिकागो जाकर भारतीय धर्म और दर्शन का जो झंडा फहराया, उससे भारतवासियों को काफी गर्वानुभूति हुई। यूरोप और अमेरिका से लोग आकर स्वामी विवेकानंद से धर्म के बारे में जानकारी हासिल करने लगे। लोग आते और सवाल पूछते। स्वामी विवेकानंद बड़े धैर्य के साथ उनके प्रश्नों का जवाब देते। स्वामी विवेकानंद गरीबों और दीन दुखियों की सेवा करने को प्राथमिकता देते थे। वह कहते थे कि हमें अपने देश के दीन-दुखियों की सहायता करनी चाहिए। वे ही नारायण हैं। एक बार की बात है।

एक युवक उनके पास आया और कहा कि मैं यह जानना चाहता हूं कि पूरी दुनिया के जितने भी ग्रंथ हैं, उनमें मां की महिमा क्यों गाई गई है। मां का जीवन में इतना ज्यादा महत्व क्यों है? उस युवक का सवाल सुनकर स्वामी विवेकानंद मुस्कुराए और उस युवक से कहा कि तुम कहीं से पांच सेर का एक पत्थर ले आओ। तुम्हारे सवाल का जवाब दूंगा। वह युवक गया और थोड़ी देर बाद एक पत्थर लेकर आ गया। स्वामी जी ने कहा कि इस पत्थर को तुम अपने पेट पर किसी कपड़े की सहायता से बांध लो। एक दिन तुम्हें इसे बांधे रहना है। वह युवक चला गया।

पेट पर पत्थर बांधने से उसे काफी परेशानी हुई। शाम होते-होते उस युवक का चलना फिरना तक काफी कम हो गया। वह स्वामी विवेकानंद के पास पहुंचा और बोला कि एक सवाल पूछने की इतनी बड़ी सजा मैं नहीं सह सकता हूं। स्वामी विवेकानंद ने मुस्कुराते हुए कहा कि एक पत्थर तुम आठ दस घंटे पेट पर नहीं बांध सके। एक मां शिशु को अपने पेट में नौ महीने तक रखकर घर का सारा काम करती है। इस संसार में मां से बढ़कर दूसरा कोई सहनशील कोई नहीं होता है। यही वजह है कि पूरी दुनिया में मां को सबसे महान माना गया है।

-अशोक मिश्र

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

कार की चपेट में आकर बाइक सवार युवक की मौत

देश रोजाना, हथीन- गांव बहीन के निकट होड़ल नूँह रोड पर कार की चपेट में आकर एक बाइक सवार युवक की मौत हो गई।...

समाधान शिविर में लोगों ने रखी शिकायतें

देश रोजाना, हथीन- लघु सचिवालय हथीन में लगाए गए समाधान शिविर में लोगों ने शिकायतें रखीं। पहाड़ी गांव निवासी शिव सिंह ने परिवार पहचान...

Kavad Yatra : कावड़ यात्रा में श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए हरियाणा पुलिस के पुख्ता इंतजाम

2 अगस्त को शिवरात्रि का त्यौहार है तथा कावड़ यात्रा 22 जुलाई से 2 अगस्त तक प्रस्तावित है। ऐसे में लाखों की संख्या में...

Recent Comments