Wednesday, June 19, 2024
39.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeLATESTChatGPT vs Google Bard : चैटजीपीटी को मात देगा गूगल का Gemini...

ChatGPT vs Google Bard : चैटजीपीटी को मात देगा गूगल का Gemini AI

Google News
Google News

- Advertisement -

गूगल (Google) ने AI रोबोटिक्स की दुनिया में बहुत बड़ा धमाका किया है। उसने एक एआई न्यूरल नेटवर्क जेमिनी एआई (Gemini AI) लॉन्च किया है। सीधे शब्दों में समझें तो गूगल ने एक ऐसी व्यवस्था बनाई है, जिससे संदेश को एक जगह से दूसरे जगह पहुंचाया जा सकता है। दावा है कि यह बिल्कुल इंसान के न्यूरॉन्स की तरह काम करेगा।

Gemini AI में न्यूरल नेटवर्क क्या है

न्यूरल नेटवर्क को इंसान में मौजूद न्यूरॉन्स की तरह समझा जा सकता है। न्यूरॉन्स एक संदेश को एक जगह से दूसरी जगह ले जाने का काम करते हैं। न्यूरल नेटवर्क को उदाहरण की तरह समझना है तो, बड़ा उदाहरण गूगल का सर्च इंजन है। जेमिनी एआई (Gemini AI) भी एक न्यूरल नेटवर्क है, जिसे टेक्सट और कोड के बहुत बड़े डेटासेट के लिए ट्रेन किया गया है।

डेटा के मामले में काफी आगे

इस डेटा सेट में किताबें, आर्टिकल्स, कोड्स व अन्य कई लिखित सामग्रियां शामिल हैं. जेमिनी एआई शब्द और वाक्यों के बीच पैटर्न और संबंध को सीखने में सक्षम है. इसलिए जेमिनी, भाषा का अनुवाद, टेक्स्ट लिखना, सवालों का जवाब अधिक विस्तार से देना और क्रिएटिव कंटेट तैयार करना आदि आसानी से कर सकता है. हालांकि, ये काम बाकी न्यूरल नेटवर्क भी कमोबेश कर सकते हैं तो जेमिनी में क्या खास है.

क्यों खास है Gemini AI

Gemini AI को अन्य न्यूरल नेटवर्क से थोड़ा एडवांस बनाया गया है। ये ना सिर्फ टेक्स्ट को समझता है, बल्कि तस्वीरों, वीडियो और ऑडियो को भी डीकोड करता है। इसके पास एक विद्वान की तरह गणित, विज्ञान के साथ अन्य कठिन विषयों की भी पर्याप्त जानकारी है। यह किसी भी सवाल का सटीक जवाब तो देगा ही, किसी भी पजल को हल करने में मदद करता है।

यह प्रोग्रामिंग लैग्वैंज के लिए हाई क्वॉलिटी कोड जेनरेट कर सकता है। यह तस्वीर को इनपुट की तरह लेकर फोटो में मौजूद सामग्री से संबंधित आइडिया आपको दे सकता है। अगर आप इसे वीडियो दिखाते हैं तो यह उसका कोड जेनरेट कर सकता है।

कैसे इस्तेमाल कर पाएंगे आप

गूगल ने अपनी इस AI सेवा को केवल दो सेवाओं के लिए ही लॉन्च किया है। अभी जेमिनी एआई को गूगल पिक्सल 8 (Google Pixal 8) और गूगल बार्ड (Google Bard) में इस्तेमाल किया जा सकता है। कंपनी का प्लान है कि इसे धीरे-धीरे अन्य सेवाओं के लिए भी लॉन्च किया जाएगा। जल्द ही इसे गूगल सर्च, ऐड, क्रोम और दूसरी सर्विसेज के साथ भी जोड़ा जाएगा।

बाकियों से कैसे अलग है जेमिनी एआई

जेमिनी एक मल्टीमॉडल एआई है। इसे एडवांस बनाया गया है। दावा किया गया है कि अभी बाजार में जितने भी एआई मॉडल हैं, वे इसके जितना कैपेबल नहीं हैं। साथ ही इसके जितना काम नहीं कर सकते। जेमिनी को काफी एडवांस और यूजर फ्रेंडली बनाया गया है।

ChatGPT से कैसे अलग है जेमिनी का मॉडल

दावा किया गया है कि जेमिनी कई मामलों में चैटजीपीटी से अलग है। चैटजीपीटी अभी केवल टेक्स्ट को समझ कर उस पर जवाब दे सकता है। जेमिनी टेक्स्ट के साथ इमेज, ऑडियो और वीडियो को भी इनपुट की तरह लेकर उस पर जवाब दे सकता है। जेमिनी की साइट पर गूगल ने दावा किया है कि मैसिव मल्टीटास्किंग लैंगुवेज अंडरस्टैंडिंग (MMLU) के मामले में जेमिनी ने इंसानी विशेषज्ञता को भी पछाड़ दिया है।

क्या है MMLU

MMLU किसी एआई मॉडल की नॉलेज और प्रॉब्लम सॉल्विंग क्षमता के परीक्षण के लिए सबसे भरोसमंद तरीकों में से एक है। जेमिनी ने MMLU 90 फीसदी अंक प्राप्त किए जबकि ह्यूमन एक्सपर्ट ने 89.8 फीसदी अंक हासिल किए। रीजनिंग, मैथ्स और कोड्स को सॉल्व करने के मामले में जेमिनी जीपीटी 4 से कहीं आगे रहा।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

दक्षिण भारत को प्रियंका और उत्तर प्रदेश को संभालेंगे राहुल

आखिरकार राहुल गांधी ने वायनाड सीट छोड़ने और अपनी बहन प्रियंका गांधी को वायनाड से लड़ाने का फैसला कर ही लिया। इस बात की...

आ गया Motorola Edge 50 Ultra , दमदार फीचर्स जानकर उड़ जाएंगे होश

भारतीय बाज़ारों में Motorola Edge 50 Ultra लॉन्च हो गया है स्मार्टफोन (Smartphone) के दीवानों के लिए ये सबसे बढ़िया ऑप्शन साबित हो सकता...

पाप का गुरु मन में बैठा लोभ है

प्राचीनकाल में किसी गांव में एक पंडित जी रहते थे। वह नियम धर्म के बहुत पक्के थे। किसी के हाथ का छुआ पानी तक नहीं पीते...

Recent Comments