Friday, June 14, 2024
34.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeLATESTTech 2023: हर घर पहुंचा AI, डाटा सुरक्षा बनी चुनौती

Tech 2023: हर घर पहुंचा AI, डाटा सुरक्षा बनी चुनौती

Google News
Google News

- Advertisement -

तकनीक के लिहाज से साल 2023 बेहद महत्वपूर्ण वर्ष रहा। बीते साल में टेक्नोलॉजी (Tech 2023) ने अभूतपूर्व विकास किया है। एआई (AI) की पहुंच अब घर-घर हो गई है। रोबोटिक्स से निकलकर भारत 2023 में ऐआई बेस्ड तकनीक विकसित करने में सक्षम हुआ है। चंद्रयान की सफलता के साथ ही प्रौद्योगिकी विकास ने रफ्तार पकड़ ली है। हालांकि, डाटा गोपनीयता और भंडारण एक नई चुनौती बनी है।

भारत ने बनाए डाटा सुरक्षा कानून

भारत ने वर्ष 2023 (Tech 2023) में डेटा सुरक्षा और स्टोरेज पर नए कानून बनाए हैं। इसके साथ ही उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा और बड़ी कंपनियों के लिए अनुपालन ढांचे को परिभाषित करने के लिए भी सख्ती बढ़ाई गई। वर्ष 2023 में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) को लेकर उत्साह और आश्चर्य के बीच OpenAI के बनाए ChatGPT की लोकप्रियता और डीपफेक (Deep Fake) पर भारत की कार्रवाई ने सभी का ध्यान खींचा।

नेटिजन्स को सुरक्षित करना प्राथमिकता

भारत ने इस साल (Tech 2023) डिजिटल संप्रभुता पर जोर दिया है। साथ ही सोशल मीडिया और बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनियों पर सख्ती की है। डिजिटल क्षेत्र में उभर रहे नए जोखिमों से ‘नेटिजन्स’ को सुरक्षित रखने का भारत का संकल्प स्पष्ट था। सरकार निर्णायक रूप से नियमों और कानूनों को तैयार करने के लिए आगे बढ़ी है। इस तरह भविष्य के लिए एक ऐसा ढांचा तैयार हुआ, जो भारत में न केवल डिजिटल व्यक्तिगत डेटा की रक्षा करेगा, बल्कि डिजिटल और सोशल मीडिया मंचों के लिए सख्त जवाबदेही तय करके एक मुक्त, सुरक्षित और विश्वसनीय इंटरनेट भी सुनिश्चित करेगा।

रश्मिका मंधाना की वीडियो ने खींचा ध्यान

साल 2023 में रश्मिका मंदाना सहित चर्चित हस्तियों के डीपफेक (Deep Fake) वीडियो भी वायरल हुए। सरकार ने इसके बाद सख्त कदम उठाते हुए सोशल मीडिया मंचों के साथ इस मसले के संबंध में जरूरी कदम उठाए। सरकार ने यह स्पष्ट कर दिया कि किसी भी अनुपालन विफलता से सख्ती से निपटा जाएगा और कानूनी परिणाम भुगतने होंगे।

आर्थिक संकट के दबाव में बड़े स्तर पर छंटनी

वैश्विक स्तर पर, व्यापक आर्थिक संकट और वृद्धि संबंधी चुनौतियों ने बड़ी प्रौद्योगिकी कंपनियों पर दबाव बनाया। ऐसे में इन कंपनियों ने खर्च में कटौती की और 2023 की शुरुआत में बड़े पैमाने पर छंटनी का सहारा लिया।

ट्विटर का नाम बदलकर एक्स हुआ

इस वर्ष (Tech 2023) शार्ट वीडियो की लोकप्रियता में भी तेजी से बढ़ोतरी हुई है। ऐसे में कई ऐप लॉन्च हुए और कुछ ने अपने सिस्टम में बदलाव किए। हालांकि, सबसे बड़ी खबर एलन मस्क (elon musk) लेकर आए। उन्होंने ट्विटर को खरीदा और उसका नाम बदलकर एक्स (X) कर दिया। जुलाई 2023 में मस्क ने सोशल मीडिया मंच ट्विटर का नाम बदलकर ‘एक्स’ कर दिया।

फेसबुक (Facebook) की पैरेंट कंपनी मेटा (Meta) ने ट्विटर को टक्कर देने के लिए ‘थ्रेड्स’ की पेशकश की, हालांकि इसे बहुत सफलता नहीं मिल सकी।

क्यों लाया गया कानून?

भारत में संसद ने अगस्त में डिजिटल व्यक्तिगत डेटा संरक्षण विधेयक (डीपीडीपी) को मंजूरी दी। इसका मकसद 1.4 अरब नागरिकों के डिजिटल व्यक्तिगत डेटा की सुरक्षा करना और भारत की डिजिटल संप्रभुता बनाए रखना है। इस साल कंटेंट या सामग्री की जवाबदेही तय करने और नैतिकता के सवालों का सामना दुनियाभर की सरकारों ने किया। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि एआई मुख्यधारा में आ

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

Recent Comments