Tuesday, May 21, 2024
31.8 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeEDITORIAL News in Hindiसेक्स स्कैंडल ने ठोंक दी जेडीएस के ताबूत में कील!

सेक्स स्कैंडल ने ठोंक दी जेडीएस के ताबूत में कील!

Google News
Google News

- Advertisement -

कर्नाटक में इन दिनों सियासी तापमान बहुत ज्यादा है। सांसद प्रज्ज्वल रवन्ना का सेक्स स्कैंडल सामने आने के बाद जहां भाजपा और जेडीएस बचाव की मुद्रा में हैं, वहीं कांग्रेस इस मुद्दे को सात मई को होने वाले मतदान को लेकर भुनाने का प्रयास करने में जुट गई है। हालांकि कर्नाटक के पूर्व सीएम एचडी कुमार स्वामी ने प्रज्ज्वल रेवन्ना को एसआईटी जांच तक पार्टी से निलंबित करने की घोषणा कर दी है, लेकिन उनका यह कदम शायद ही सेक्स स्कैंडल से होने वाले नुकसान की भरपाई कर सके। कांग्रेस पूरे कर्नाटक में जगह-जगह इस मामले को लेकर प्रदर्शन कर रही है। जैसे ही मामले का खुलासा हुआ, कर्नाटक सीएम सिद्धारमैया ने एसआईटी जांच कराने की घोषणा करने में देरी नहीं की। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा सहित कई कांग्रेसी नेता इस मामले में पीएम नरेंद्र मोदी को भी कठघरे में खड़ा करने से नहीं चूक रहे हैं।

प्रज्ज्वल रेवन्ना का जर्मनी भाग जाना भी कर्नाटक में भाजपा और जेडीएस के लिए भारी पड़ सकता है। आगामी सात मई को होने वाले मतदान में जेडीएस और भाजपा को कितना नुकसान होता है, इसका खुलासा तो चार जून को होगा, लेकिन राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि चुनाव के दौरान हुए सेक्स स्कैंडल खुलासे ने भाजपा के सामने एक सुनहरा मौका उपलब्ध करा दिया है। कर्नाटक सहित पूरे देश में जेडीएस जिस तरह शर्मनाक स्थिति में आ चुकी है, उससे अब जनता दल सेक्युलर में भगदड़ होनी निश्चित है। आगामी सात मई को होने वाले चुनाव के लिए प्रचार करने जा रहे जेडीएस कार्यकर्ताओं और नेताओं को बड़ी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें : स्कूल प्रबंधन की मनमानी के खिलाफ बोलना कब सीखेंगे?

ऐसी स्थिति में जाहिर सी बात है कि ज्यादातर नेता और कार्यकर्ता शिफ्ट होंगे। उनके लिए भाजपा सबसे मुफीद संगठन है। भाजपा भी इस मौके को भुनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहेगी। अब आने वाले कुछ दिनों में जेडीएस में मचने वाली भगदड़ को एचडी देवेगौड़ा और उनके पुत्र एचडी कुमार स्वामी कितना रोक पाते हैं, यह उनकी क्षमता पर निर्भर है। कर्नाटक में अब भाजपा अपना विस्तार भी कर सकेगी और जेडीएस को अपनी शर्तों पर गठबंधन के लिए मजबूर कर सकती है।

जेडीएस नेताओं के सामने सबसे बड़ी शर्मनाक स्थिति यह है कि पूर्व पीएम देवेगौड़ा के विधायक पुत्र एचडी रेवन्ना और सांसद पोते प्रज्ज्वल रेवन्ना के खिलाफ उनकी मेड ने एफआईआर दर्ज कराई है। दोनों को मेड ने यौन शोषण का आरोपी बताया है। मीडिया में जो खबरें आ रही हैं, वे काफी हैरतअंगेज हैं। बताया जा रहा है कि पिछले कई सालों में प्रज्ज्वल ने हजारों महिलाओं का यौन शोषण किया है। खुद उनके यौन शोषण की वीडियो फिल्म बनाई है और यौन शोषण के दौरान बर्बर व्यवहार किया है। इस मामले में भाजपा के सामने संकट यह है कि भाजपा नेता देवराजे गौड़ा ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष और केंद्रीय नेतृत्व को पहले भी चेतावनी दी थी, इसके बावजूद पीएम प्रज्ज्वल के पक्ष में प्रचार करने गए, इसी बात को विपक्ष मुद्दा बना रहा है।

Sanjay Maggu

-संजय मग्गू

लेटेस्ट खबरों के लिए क्लिक करें :https://deshrojana.com/

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

Recent Comments