Tuesday, May 21, 2024
31.8 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeHARYANAFaridabadHolika Dahan 2024 : होलिका दहन के साथ शुरू हुआ रंगों का...

Holika Dahan 2024 : होलिका दहन के साथ शुरू हुआ रंगों का त्यौहार

Google News
Google News

- Advertisement -

Faridabad : शहर में रंगों के त्यौहार होली की शुरूआत होलिका दहन के बाद से शुरू हो गई। शहर भर में ढोल-नगाड़ों की थाप पर होलिका दहन किया गया। सुहागिनों ने व्रत रख कर बच्चों व पति की सलामती के दुआ मांगी। शहर में जगह-जगह होली समारोह का आयोजन कर लोगों ने गुलाल व फूलों की होली खेली। एक-दूसरे के गले मिलकर होली की शुभकामनाएं दीं। वहीं दूसरी तरफ रंगों के इस त्यौहार पर रंग लगाने को लेकर लड़ाई झगड़े भी हो जाते हैं। जिसे देखते हुए झगड़े में घायल होकर आने वालों के उपचार के लिए बीके सिविल अस्पताल में कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी है, वहीं चिकित्सकों को अवकाश होने पर भी स्टेशन न छोड़ने की हिदायते दी है।

Holika Dahan

आज शहर में होलिका दहन पर विभिन्न स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित किए गए। रंग-बिरंगे रंगों से सराबोर लोग बैंड-बाजों की तान पर झूमते नजर आए। कहीं पारंपरिक गीत-संगीत तो कही फिल्मी होली के गानों पर शहरवासियों ने जमकर ठूमके लगाए। शहर में जगह-जगह होली समारोह का आयोजन किया गया। इसमें गोबर के उपले, लकड़ी व फूलों से सजाकर होली तैयार की गई। सुहागिन महिलाओं ने व्रत रखा। होलिका पूजा कर सुख-शांति की कामना की। जहां भी खाली मैदान थे। वहां बड़ी होली का आयोजन किया गया।

Holika Dahan 2024

इसके अलावा गली-गली में छोटी-छोटी होलिका रखी गई। सूर्यास्त के समय होलिका दहन का कार्यक्रम गीत-संगीत व ढोल नागड़े की थाप पर धूमधाम से मनाया गया। शहर के प्रमुख मंदिरों में भी होलिका दहन समारोह का आयोजन किया गया। पूजा-पाठ के बाद शाम को होलिका दहन किया गया। होलिका दहन के कार्यक्रम में एकजुट होकर लोगों ने गले मिलकर शुभकामनाएं दी। होली की उमंग और उत्साह चेहरे पर दिखाई दिया। घर में गुजिया व पूए-पकवान बनाए गए। राधा सर्वेश्वर मंदिर के संस्थापक मुनिराज ने बताया कि इस दिन पूजा-पाठ का विशेष महत्व माना जाता है। सुबह स्नान के करने के बाद भगवान नारायण की पूजा करनी चाहिए। इससे घर में सुख-समृद्धि आती है।

यह भी पढ़ें : Holi में त्वचा, आंख के साथ रखें गर्भवतियों का खास ख्याल

डॉक्टर रहेंगे तैनात: बीके सिविल अस्पताल के आरएमओ डॉ. रोहित गौड ने बताया कि होली के पर्व को ध्यान में रखते हुए 24 घंटे दो-दो डॉक्टरों व स्टाफ को होली के मौके पर अपातकालीन कक्ष में तैनात किया गया है। वहीं स्पेशलिस्ट चिकित्सक भी शहर से बाहर नहीं जाऐंगे। कर्मचारियों की होली की छुट्टियां अस्पताल प्रबंधको ने रद्द कर दी है। क्योंकि होली के मौके पर लड़ाई झगड़े और बीमारी के मरीजों की संख्या में अधिक बढ़ौत्तरी हो जाती है। उन्होंने बताया कि मरीजों के लिए साफ सफाई बेहद जरूरी है। उन्होंने बताया कि अस्पताल में आने वाले मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने का प्रयास किया जा रहा है।

लेटेस्ट खबरों के लिए जुड़े रहें : https://deshrojana.com/

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

Recent Comments