Sunday, May 19, 2024
40.7 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeHARYANAFaridabadमोर्चरी के जीर्णोद्धार में जनसुविधा का नहीं रखा ध्यान

मोर्चरी के जीर्णोद्धार में जनसुविधा का नहीं रखा ध्यान

Google News
Google News

- Advertisement -

शहर के बादशाह खान सिविल अस्पताल में पिछले दिनों मोर्चरी का जीर्णोद्वार किया गया है। लेकिन इस दौरान शौचालय के निर्माण पर किसी ने ध्यान नहीं दिया। जिसके कारण यहां आने वाले लोग परेशान होते हैं। हालांकि यहां शौचालय तो है, लेकिन उसे अन्य चीजों के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। इसे ताला बंद करके आम पब्लिक के इस्तेमाल से दूर रखा जा रहा है।

जानकारी के मुताबिक मोर्चरी में पिछले दिनो जीणोद्धार का काम किया गया है। जिसमें यहां सीएसआर फंड के जरिये छह नए फ्रीज लगवाये गए हैं, जिसके कारण यहां फ्रीज की संख्या कुल 14 हो गई है। लेकिन छह नए और दो पुराने फ्रीज ही केवल चालू हैं। वहीं यहां डॉक्टर और पोस्टमार्टम वाले रूम में दो एसी लगाए गए हैं। मोर्चरी में टाइल्स लगा कर एम्बुलेंस और लोगों के लिए वैटिंग एरिया बना दिया गया। वहीं चिकित्सकों के लिए अलग से निकलने की व्यवस्था कर दी गई। लेकिन यहां बैठने और पीने के पानी की व्यवस्था नहीं थी । जिसे सेवा वाहन के जरिये पूरा कर दिया गया। लेकिन यहां शौचालय की व्यवस्था अभी तक नहीं हो सकी।

लगावाई पानी टैंकी:

सेवा वाहन के संचालक समाज सेवी सतीश चौपड़ा ने बताया कि मोर्चरी के जीर्णोद्धार के बाद बैठने के लिए कोई सुविधा नहीं थी । ऐसे में यहां छह सिमेंटेड तीन सीटर कुर्सियां उन्होंने लगाई हैं । इसके अलावा गर्मी को देखते हुए यहां चार पंखे लगवाये हैं। वहीं यहां गमले भी लगवाये हैं। ताकि हरियाली रह सके । इसी के साथ यहां एक वॉटर कूलर का प्रबंध मृतकों के परिजनों के लिए किया गया है। ताकि वह धूप, गर्मी में प्यास से परेशान न हों । पिछले दिनों लोगों की संख्या बढ़ने के साथ ही यहां पानी समाप्त हो गया था । ऐसे में यहां 500 लीटर की पानी की टंकी लगवाई है।जिससे पेयजल सप्लाई हो सके।  इसके साथ ही एक वॉशवैसिन भी लगवा दिया है। जिसमें करीब सात हजार रुपये का खर्च आया है।

शोचालय बंद :

मोर्चरी में मृतकों के परिजनों के लिए एक शौचालय तो बना है। लेकिन वह पूरी तरह से बंद है। ऐसे में यहां आने वाले लोगों को यहां से वहां भटकने को मजबूर होना पड़ता है। ऐसा ही यहां एमआरआई / सीटीऔर दवा काउंटरों तथा पंजीकरण काउंटर पर आने वाले मरीजों तथा उनके परिजनों के संग होता है। शौचालय न होने के कारण लोग परेशान रहते हैं। मोर्चरी के निकट बने शौचालय को ताला लगाकर बंद कर रखा है, इसे कर्मी अपने इस्तेमाल में ले रहे हैं। इस पर ताला बंद करके रखते हैं । इसमें कपडे टंगे हुए थे और साफ सफाई का सामान रखा हुआ है। 

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

Kangana Ranaut: मंडी से चुनाव जीती तो क्या चाहती है कंगना रनौत, बोली अगर ऐसा हुआ तो..

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) इन दिनों राजनीतिक गलियारों में नज़र आ रही है लोकसभा चुनाव (loksabha Election) में कंगना बीजेपी (BJP) की...

अरविंद केजरीवाल ने बहुत सोच समझकर चुनौती दी है

इसमें कोई दो राय नहीं है कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल कुशल राजनीतिज्ञ हैं। वह माहौल को अपने पक्ष में कैसे बदला जाए,...

प्रचंड गर्मी के लिए प्रकृति के साथ पूरा मानव समाज जिम्मेदार

राजनीतिक रूप से तो प्रदेश का पारा चढ़ा ही है, लेकिन सूरज ने भी अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। पूरा उत्तर भारत...

Recent Comments