Tuesday, April 23, 2024
35.7 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeLATESTEid Al-Fitr 2024 : कब मनाई जाएगी ईद, जानें ईद-उल-फितर की सही...

Eid Al-Fitr 2024 : कब मनाई जाएगी ईद, जानें ईद-उल-फितर की सही डेट और महत्व

Google News
Google News

- Advertisement -

Eid Al-Fitr 2024 Date : इस्लाम का सबसे पवित्र महीना खत्म होने में बस कुछ ही दिन बचे हैं। क्योंकि कुछ ही दिनों में ईद-उल-फितर के त्योहार के साथ रमजान का महीना खत्म हो जाएगा। पाक महीने रमजान में पूरे 29-30 दिनों के रोजे रखें जाते हैं और ईद का चांद नजर आते ही रोजेदारों का रोजा भी पूरा हो जाता है। इस्लाम धर्म में ईद-उल-फितर को सबसे पवित्र त्योहार माना जाता है, इसे मीठी ईद भी कहा जाता है, जो अपने साथ कई तरह की बरकतें लेकर आती है, यह महीना इस्लाम धर्म के अनुयायियों के लिए शुभ और सर्वोत्तम होता है। वहीं, ईद-उल-फितर त्योहार के दौरान लोग एक-दूसरे से गले मिलते हैं। खुशी जाहिर करें और अल्लाह से रहम और बरकत के लिए दुआ करें।

Eid Al-Fitr 2024

हालांकि ईद मनाने की तारीख चांद दिखने के हिसाब से तय की जाती है। जिस दिन चांद दिखाई देता है उसे चांद मुबारक कहा जाता है और ईद मनाई जाती है। सऊदी अरब में सबसे पहले ईद की तारीख का ऐलान किया जाता है। ऐसे में आइए जानते हैं इस साल भारत में कब मनाई जाएगी ईद…

Eid Al-Fitr 2024

कब मनाई जाएगी ईद-उल-फितर (Eid Al-Fitr 2024)

इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार ईद 10वें शव्वाल (महीने) की पहली तारीख को मनाई जाती है। जो इस साल 10 अप्रैल को पड़ रही है, लेकिन इस्लाम धर्म को मानने वाले लोग अपना त्योहार चांद को देखकर मनाते हैं। ऐसे में ईद का चांद नजर आने के बाद ही ईद-उल-फितर की सही तारीख मुकर्रर की जाएगी। फिलहाल यह अनुमान लगाया जा रहा है कि अगर मुस्लिम समुदाय के लोगों का 29वां रोजा पूरा होने के बाद चांद निकला तो ईद 10 अप्रैल 2024 को मनाई जाएगी। अगर 30वां रोजा पूरा होने के बाद चांद दिखा तो ईद 11 अप्रैल को मनाई जाएगी।

Eid Al-Fitr 2024

यह भी पढ़ें : Ramadan 2024 : सऊदी अरब में दिखा चांद, भारत में कल रखा जाएगा पहला रोजा

ईद-उल-फितर का महत्व

इस्लाम धर्म को मानने वाले लोगों के लिए ईद का त्योहार बेहद खास होता है। यह अल्लाह का शुक्रिया अदा करने का दिन है। मुस्लिम समुदाय के लोग ईद को हर्षोल्लास और जश्न के साथ मनाते हैं। ईद-उल-फितर को छोटी ईद और मीठी ईद भी कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि इस विशेष दिन पर पैगंबर हजरत मुहम्मद ने बद्र के युद्ध में जीत हासिल की थी। इसी खुशी में हर साल ईद मनाई जाती है। कहा जाता है कि ईद-उल-फितर पहली बार 624 ईस्वी में मनाया गया था। ईद त्यौहार का महत्व खुशी, उत्सव, प्रेम, सद्भाव, शांति, सौहार्द और भाईचारे को बढ़ावा देना है। इसलिए ईद के दिन लोग एक-दूसरे को गले मिलकर ईद की बधाई देते हैं।

(डिस्क्लेमर : इस आलेख में दी गई किसी भी जानकारी विभिन्न माध्यमों/मान्यताओं के द्वारा ये जानकारी प्रस्तुत की गई है। जिसका उद्देश्य केवल सूचना पहुंचाना है। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह अवश्य लें।)

लेटेस्ट खबरों के लिए जुड़े रहें : https://deshrojana.com/

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

Recent Comments