Friday, June 14, 2024
34.1 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeSPORTSPEFI Conference : खेलों के विकास पर चर्चा के लिए जुटेंगे खेल...

PEFI Conference : खेलों के विकास पर चर्चा के लिए जुटेंगे खेल विज्ञानी

Google News
Google News

- Advertisement -

PEFI Conference : राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन संस्था फिजिकल एजुकेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया (पेफी) 14-15 दिसंबर को खेल विज्ञान पर 7वीं राष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस आयोजित कर रही है। यह आयोजन स्पोर्ट्स इंडिया 2023 के साथ मिलकर हो रहा है। इसमें खेल मंत्रालय भी सहयोग कर रही है। दिल्ली के प्रगति मैदान में इसका आयोजन होगा। आयोजन से पूर्व कांफ्रेंस की पत्रिका का लोकार्पण अर्जुन एवं द्रोणाचार्य अवार्डी संदीप मान और अर्जुन अवार्डी राजीव तोमर ने किया।

कार्यक्रम के आयोजक सचिव डॉ. पीयूष जैन ने बताया की हर वर्ष की भांति पेफी द्वारा इस कांफ्रेंस (PEFI Conference) का आयोजन प्रगति मैदान में स्पोर्ट्स इंडिया 2023 के साथ मिलकर किया जा रहा है। इसमें देश भर से खेल विज्ञानी, खेलों के विकास में विज्ञान का योगदान पर चर्चा करेंगे। नई-नई रिसर्च फाइंडिंग के बारे में खिलाड़ियों, खेल प्रशिक्षकों और शारीरिक शिक्षकों को जागृत किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि पूरे विश्व में खेल विज्ञान के क्षेत्र में क्रान्ति आई है। इसका फायदा खिलाड़ियों को मिल रहा है। विकसित देश हमसे अधिक मैडल ला रहे हैं। अब हमारे देश में भी इस तरह की गतिविधियों की भी जरूरत है। इससे हमारे खिलाड़ी और अधिक मैडल ला सकेंगे। साथ ही निश्चित रूप से यह कांफ्रेंस (PEFI Conference) खेल विज्ञान के जगत में एक मील का पत्थर साबित होगी।

PEFI
अर्जुन एवं द्रोणाचार्य अवार्डी संदीप मान और अर्जुन अवार्डी राजीव तोमर के साथ डॉ. पीयूष जैन।

अर्जुन एवं द्रोणाचार्य अवार्डी सुजीत मान और राजिव तोमर ने इस अवसर पर कहा कि खेल विज्ञान की खिलाड़ी की परफॉरमेंस बढाने में अहम भूमिका होती है। हर खिलाड़ी के लिए यह एक महत्वपूर्ण विषय है। इसके द्वारा (PEFI Conference) वह अपनी परफॉर्मेंस में निखार लाकर विश्व स्तर पर अपने नाम कमा सकता है। मेडल ला सकता है और देश का नाम रोशन कर सकता है। मुझे ख़ुशी है की पेफी द्वारा इस तरह की कांफ्रेंस का आयोजन दिल्ली में किया जा रहा है।

बता दें कि कुछ वर्षो में देश में खेल विज्ञान के क्षेत्र में खेल मंत्रालय द्वारा कई नए कदम उठाए गए हैं। इस विषय पर मुख्य रूप से ध्यान दिया जा रहा है। इसके अंतर्गत देश भर में स्पोर्ट्स साइंस के नए-नए कोर्स से चालू किए गए हैं। उनसे प्रशिक्षित विद्यार्थी साई और फेडरेशन से जुड़कर खिलाड़ियों के विकास में योगदान दे रहे हैं। डॉ. जैन ने देश भर के खेल विज्ञानियों, खिलाड़ियों, खेल प्रशिक्षकों और शारीरिक शिक्षकों से अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने की अपील की है।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

माहौल खराब करने से बेहतर आप और कांग्रेस बातचीत करें

इन दिनों हरियाणा के राजनीतिक परिदृश्य में इंडिया गठबंधन के बिखरने की बात कही जा रही है। इस बात को भाजपा नेता बड़ी जोरशोर...

संत नामदेव ने छाल की तरह अपनी खाल उतारी

महाराष्ट्र के संत नामदेव ने जीवन भर प्रभु भक्ति और समता का प्रचार किया। वह अपने समय के प्रसिद्ध संत ज्ञानेश्वर के साथ उत्तर...

एक दिन पूरी दुनिया को ले डूबेगा जलवायु परिवर्तन

पूरा उत्तर भारत तप रहा है। यह तपन जलवायु परिवर्तन के कारण है। इस तपन के कारण मानव क्षति भी हो रही है और आर्थिक क्षति भी।...

Recent Comments