Tuesday, April 23, 2024
35.7 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeWorldलाल सागर में जहाज पर हूतियों ने बोला हमला, रूस से भारत...

लाल सागर में जहाज पर हूतियों ने बोला हमला, रूस से भारत आ रहा था तेल टैंकर

Google News
Google News

- Advertisement -

Red Sea Attack : अमेरिका द्वारा आधिकारिक तौर पर आतंकी संगठन घोषित करने के बावजूद हूती विद्रोहियों पर कोई असर नहीं हो रहा है। यमन के हूती लाल सागर में जहाजों को निशाना बना रहे हैं। अमेरिकी विदेश विभाग के मुताबिक, हूती विद्रोहियों ने भारत में कच्चा तेल ले जा रहे एक जहाज पर मिसाइल से हमला किया है।

Red Sea attack

समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, अमेरिकी विदेश विभाग ने शुक्रवार को कहा कि भारत के लिए कच्चा तेल ले जा रहे एक टैंकर पर लाल सागर में हमला किया गया। हमला कररने वाले उस जहाज पर पनामा का झंडा लगा हुआ था। अमेरिकी विदेश विभाग के मुताबिक, यमन से लॉन्च की गई एक मिसाइल ने बंदरगाह के पास एम/टी पोलक्स जहाज को निशाना बनाया है।

Red Sea attack

एक जहाज़ मारी गई थी टक्कर

वैसे, इससे पहले शुक्रवार को यूनाइटेड किंगडम मैरीटाइम ट्रेड ऑपरेशंस (यूकेएमटीओ) एजेंसी और ब्रिटिश समुद्री सुरक्षा फर्म एंब्रे ने कहा था कि पनामा-ध्वजांकित टैंकर यमन से दूर मोखा बंदरगाह से 72 मील (133 किमी) उत्तर-पश्चिम में टक्कर मारी गई थी। ब्रिटिश समुद्री सुरक्षा फर्म एंब्रे ने कहा, “जहाज को मामूली क्षति हुई है। चालक दल के सुरक्षित होने की खबर है।”

यह भी पढ़ें : पोलैंड में किसानों का विरोध प्रदर्शन, EU के ऑफिस पर फेंके अंडे, सड़कें जाम

अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि “यह अंतरराष्ट्रीय जहाजों पर हूती हमलों का एक और उदाहरण है। हूतियों के खिलाफ कार्रवाई और अंतरराष्ट्रीय बयानों के बावजूद, उनके हमले अभी भी जारी हैं।” एलएसईजी डेटा के मुताबिक, एम/टी पोलक्स जहाज 24 जनवरी को रूस के काला सागर में नोवोरोसिस्क बंदरगाह से रवाना हुआ था जिसे 28 फरवरी को भारत पहुंचना था। इंडियन ऑयल कंपनी की पूर्वी ओडिशा राज्य के पारादीप में 300,000 बैरल प्रति दिन (BPD) ऑयल रिफाइनरी है।

क्या कहा हूतियों ने?

समुद्री सुरक्षा फर्म एंब्रे ने बताया कि एक दूसरे जहाज को एम/टी पोलक्स के उत्तर-पूर्व में बंदरगाह की ओर रास्ता बदलते देखा गया। यमन के ईरान समर्थित हूतियों का कहना है कि वे लाल सागर में फिलिस्तीनी जहाजों पर हमला करना जारी रखेंगे जब तक कि इज़राइल फिलिस्तीन के खिलाफ “अपराध” करना बंद नहीं कर देता। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, हूती नेता अब्दुलमलिक अल-हूती  ने गुरुवार को कहा था कि “हमारे हमलों का दुश्मन पर बड़ा प्रभाव पड़ता है, जो एक बड़ी सफलता और वास्तविक जीत है।” जहाजों पर हमलों से अंतर्राष्ट्रीय व्यापार बाधित हुआ है।

खबरों के लिए जुड़े रहें : https://deshrojana.com/

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

Recent Comments