Sunday, May 19, 2024
45.2 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeEDITORIAL News in Hindiअनिल विज का तंज कहीं कांग्रेसी सही न साबित कर दें

अनिल विज का तंज कहीं कांग्रेसी सही न साबित कर दें

Google News
Google News

- Advertisement -

क्या सचमुच हरियाणा में कांग्रेस की नैया डूब रही है? जैसा कि पूर्व गृह और स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज दावा कर रहे हैं। उन्होंने सोशल मीडिया ग्रुप एक्स पर पोस्ट डालकर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर निशाना साधा है। अनिल विज कहते हैं कि पहले पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा कहा करते थे, मैं चुनाव लड़ूंगा, लेकिन अब अपनी हार देखकर कह रहे हैं कि चुनाव कुमारी शैलजा और रणदीप सिंह सुरजेवाला लड़ेंगे। हो सकता है कि पूर्व गृहमंत्री विज की बात सही हो। यह भी हो सकता है कि पूर्व सीएम हुड्डा प्रदेश की राजनीति में बने रहना चाहते हों इसीलिए वह लोकसभा का चुनाव नहीं लड़ना चाहते हों। यह भी संभव है कि आगामी विधानसभा चुनाव में वह कांग्रेस की सरकार बनने का आकलन किए बैठे हों और वह अपने आप को भावी मुख्यमंत्री मान रहे हों।

इन बातों को ध्यान में रखकर उन्होंने लोकसभा का चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया हो। राजनीति में कोई भी अपने को कुछ भी मान और समझ सकता है। यदि ऐसा मानकर हुड्डा बिहेव कर रहे हैं, तो इसमें कतई कोई गलत बात नहीं है। एक लोकतांत्रिक व्यवस्था में किसी को भी अपने बारे में सोचने का पूरा अधिकार है। इस पर किसी को कोई आपत्ति भी नहीं होनी चाहिए। आज हरियाणा की जो स्थिति है, उसको देखते हुए यही कहा जा सकता है कि हरियाणा में इस बार भाजपा के लिए भी दस की दसों सीटें जीतना आसान नहीं होगा। इसलिए अच्छा ही होगा कि भाजपा और उसके नेता लोकसभा चुनाव पर ध्यान दें और अपना पुराना इतिहास दोहराने की कोशिश करें।

यह भी पढ़ें : देश-विदेश में प्रदेश का नाम रोशन करते हरियाणवी छोरे-छोरियां

यह भी सही है कि कांग्रेस में कई गुट हैं और वे आपस में एक दूसरे की टांग खींचने की कोशिश करते हैं। यदि कांग्रेसी गुट एक दूसरे के साथ मिलकर चुनाव लड़ते हैं, तो भाजपा को कुछ सीटों पर शिकस्त देने की सोच सकते हैं। यदि कांग्रेसियों ने एकजुट होकर लोकसभा और विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ा, तो सचमुच वही होगा, जिसका ताना अनिल विज ने मारा है। कांग्रेसियों की गुटबाजी देख कर वे मतदाता भी निराश हैं, जो भाजपा के खिलाफ हैं। कांग्रेसी नेताओं को एक दूसरे के खिलाफ विष वमन करते देख, भाजपा के पक्ष में जाने के अलावा उनके पास कोई विकल्प ही नहीं बचता है। वैसे तो अब बहुत देर हो चुकी है, लेकिन विधानसभा चुनाव के लिए एक होकर भाजपा को कड़ी टक्कर दे सकते हैं। मंत्रिमंडल से बाहर कर दिए गए अनिल विज को भी चाहिए कि वह भाजपा को जिताने में पूरी मदद करें।

Sanjay Maggu

-संजय मग्गू

लेटेस्ट खबरों के लिए क्लिक करें : https://deshrojana.com/

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

Kangana Ranaut: मंडी से चुनाव जीती तो क्या चाहती है कंगना रनौत, बोली अगर ऐसा हुआ तो..

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) इन दिनों राजनीतिक गलियारों में नज़र आ रही है लोकसभा चुनाव (loksabha Election) में कंगना बीजेपी (BJP) की...

अरविंद केजरीवाल ने बहुत सोच समझकर चुनौती दी है

इसमें कोई दो राय नहीं है कि दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल कुशल राजनीतिज्ञ हैं। वह माहौल को अपने पक्ष में कैसे बदला जाए,...

प्रचंड गर्मी के लिए प्रकृति के साथ पूरा मानव समाज जिम्मेदार

राजनीतिक रूप से तो प्रदेश का पारा चढ़ा ही है, लेकिन सूरज ने भी अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। पूरा उत्तर भारत...

Recent Comments