Thursday, April 18, 2024
37.9 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeIndiaउत्तर प्रदेश में सुरक्षा के इंतेज़ाम हुए कड़े, कांवड़ पथ पर 2500...

उत्तर प्रदेश में सुरक्षा के इंतेज़ाम हुए कड़े, कांवड़ पथ पर 2500 CCTV कैमरों से होगी निगरानी

Google News
Google News

- Advertisement -

आज से सावन महीने की शुरुआत हो गई है। इस महीने मे भगवान शिव की पूजा आराधना की जाती है। साथ ही साथ कांवड़ लेन वाले भी कांवड़ लाते है। जिसके लिए उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने कांवड़ पथ की सुरक्षा और कांवड़ियों की सुविधा को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं। जितनी सुरक्षा कांवड़ यात्रा मार्ग पर होगी उसके साथ साथ ड्रोन से निगरानी भी होगी इतना ही नहीं बल्कि दूसरी तरफ कांवड़ पथ के आस-पास की सभी नॉनवेज और वाइन शॉप को बंद करने के निर्देश दिए गए हैं। कांवड़ियों के रास्ते पर इसके साथ ही मेरठ से लेकर मुजफ्फरनगर और हरिद्वार बॉर्डर तक 2500 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं।

आपको बता दे कि इस महीने में  हरिद्वार के गंगा घाटों से जल लाकर भगवान शिव के विभिन्न मंदिरों में जलार्पण के लिए कांवड़ियों का हुजूम निकलता है अबकी बार भी जल्द निकलने वाला है। यूपी की योगी सरकार ने इसको लेकर खूब सारी तयारी कर ली है ताकि कांवड़ लेन वालो की भक्ति में कोई खलल न पड़े। पुलिसकर्मियों की छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं इसके साथ साथ आयोजकों को अनुमति देने से पहले शपथ पत्र लेने को कहा गया है। जितने भी अस्पताल  हाइवे पर पड़ते है उनको सुविधा दुरुस्त रखने के भी निर्देश दिए गए हैं। साथ ही भड़काऊ बयान देने करने वालों के साथ कड़ाई से पेश आने के निर्देश हैं और अराजक तत्वों के साथ पूरी कठोरता से निपटने को कहा गया है।

सबसे ज्यादा कांवड़ पथ मुजफ्फरनगर जिले में पड़ते हैं, इसलिए मार्ग पर पड़ने वाली तमाम नॉ़नवेज की दुकानें बंद करा दी गई हैं। जितने भी होटल और रेस्टोरेंट के बाहर डिस्प्ले लगाए गए उनको भी तिरपाल से पूरी तरह ढक दिया गया है। राजस्थान, हरियाणा और  दिल्ली के लिए कांवड़ यात्री मुजफ्फरनगर के कुल 7 रास्तों से हो कर गुजरते है। साफ सफाई के साथ-साथ लाइटिंग और सीसीटीवी के इंतजाम सभी रास्तों पर करा दिए गए है। मुजफ्फरनगर जिले को 9 जोन और 80 सेक्टरों में बांटा गया है। जहां 12-12 घंटे पर 3 शिफ्ट में अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई है। 1527 सीसीटीवी कैमरों से शहर में निगरानी की जाएगी।

- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

Recent Comments