Sunday, May 19, 2024
40.2 C
Faridabad
इपेपर

रेडियो

No menu items!
HomeLATESTखाना बनाने का यह तरीका कर सकता है कैंसर की बीमारी, आज...

खाना बनाने का यह तरीका कर सकता है कैंसर की बीमारी, आज ही जानें कारण

Google News
Google News

- Advertisement -

Health Tips : कहीं आपके खाना बनाने का तरीका न करदे आपको बीमार! जी हाँ अगर आप भी खाना बनते वक़्त कुछ ऐसे तरीकों को इस्तेमाल करते हैं जिनसे आपको भारी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। आपका खाना बनाने का तरीका कैंसर जैसी खतरनाक बिमारी को भी जन्म दे सकता है। हाल ही में हुई एक जांच के अनुसार इसकी बात की पुष्टि की गई है। कैंसर एक बेहद खतरनाक व जानलेवा बीमारी है। खाना बनाने के कुछ तरीके इसके जोखिम को और भी बढ़ा सकते हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि आपके लिए यह जानना बेहद ज़रूरी है कि आप खाने को किस टेंपरेचर पर पकाते हैं। कई बार हाई टेंपरेचर पर पका खाना आपके लिए कैंसर के खतरे को बढ़ावा दे सकता है। तो आइए जानते हैं किस तरीके से खाना बनाना आपके लिए खतरा पैदा कर सकता है।

खाना बनाते समय खासतौर पर इन बातों का रखें ख्याल

  • हाई टेंपरेचर पर न पकाएं खाना। वैज्ञानिकों के अनुसार हाई टेंपरेचर पर खाना पकाना बेहद खतरनाक माना जाता है। इससे कैंसर का जोखिम बढ़ सकता है। अमेरिका में स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने अपनी एक शोध के अनुसार जानकारी दी कि घरों में जिस तरीके से खाना पकाया जाता है उसका कनेक्शन सीधे तौर पर कैंसर (Cancer) जैसी बेहद जानलेवा बीमारी से है।
  • बार बार पकाए गए खाने से बचें। वैज्ञानिकों के अनुसार जो खाना तेज़ आंच पर बार बार पकाया जाता है तो वह आपकी सेहत के लिए और भी खतरनाक हो सकता है। जैसे रेड मीट और डीप फ्राइड फूड्स इन्हे इसी तरह से बनाया जाता है इसलिए इन्हे खाने से बचें क्योंकि इनके सेवन से कैंसर का खतरा और भी ज़्यादा बढ़ जाता है।
  • शोष्कर्ताओं के अनुसार अगर कोई फूड ज़रूरत से ज़्यादा पका है तो उसमे से कुछ ऐसे तत्व रिलीज़ होते हैं जो कि डाइजेशन के दौरान DNA तक पहुंच सकता है। जिससे कैंसर को बढ़ावा देने वाले तत्व सक्रिय हो सकते हैं। ये तत्व न सिर्फ DNA को नुक्सान पहुंचाने का काम करते हैं बल्कि कैंसर व दूसरी बिमारियों का कारण भी बन सकते हैं।
  • ज़्यादा पका खाना सेहत के लिए फायदेमंद नहीं। सबसे बड़ी बात यह है कि जब किसी खाने को बार बार या ज़्यादा तेज़ आंच पर पकाते हैं तो उसके कारण खाने में मौजूद विटामिन, खजिन, फैट और कार्बोहाइड्रेट जैसे तत्व नष्ट हो सकते हैं, जिससे खाने की पौष्टिकता नष्ट हो जाती है।
- Advertisement -
RELATED ARTICLES
Desh Rojana News

Most Popular

Must Read

Recent Comments